पटना, जेएनएन ।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) सहित पूरे विपक्ष पर सदन में जमकर पलटवार किया।  मंगलवार ( 23 फरवरी) को बजट पर राज्यपाल के अभिभाषण पर विमर्श के दौरान तेजस्‍वी के बार-बार टोकाटोकी करने पर नीतीश कुमार ने यहां तक कह दिया कि हम क्‍या गोदी में नहीं उठाए हैं, चुपचाप बैठो। तुम्‍हें गोद में खेलाया है। उन्होंने तेजस्वी के तमाम आरोपों सहित पूरे विपक्ष को करारा जवाब दिया है।

अच्‍छा लगता है आपका बोलना

मुख्यमंत्री के संबोधन के दौरान जब तेजस्वी यादव ने सवाल खड़े किए तो उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि सदन में मैंने आपकी सारी बातें सुनीं। अब मेरी भी सुन लीजिए। आगे आपको ही फायदा देगा। मैं जब केंद्र में मंत्री था तब तत्‍कालीन प्रधानमंत्री अटल जी (Ex PM Atal Bihari Vajpayee) से जो भी सीखा, वह आज भी मेरे काम आ रहा है। मेरे भी मार्गदर्शन में आपने बतौर डिप्‍टी सीएम एक साल आठ महीने काम किया। उस वक्‍त का फायदा भी लोगों को बताइए । मैं तो चाहूंगा कि आपको मौका मिले और आप बोलें। मुझे अच्छा लगता है, जब आप बोलते हैं।

 कांग्रेस को करारा जवाब

आज सदन में  सीएम नीतीश कुमार ने विपक्ष का करारा जवाब दिया। उन्‍होंने शराबबंदी हटाए  जाने की मांग पर कहा कि कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है। इसके बाद उन्‍होंने कांग्रेस का सदस्‍यता फॉर्म दिखाया। कहा, इसमें सदस्‍यों से शपथ ली जाती है कि वे मादक पदार्थो का सेवन नहीं करते। यह तो बापू का ही सिद्धांत था। आप एक तरफ ताे सदस्‍यों से वचन लेते हैं कि मैं दारू से दूर रहता हूं, दूसरी ओर शराबबंदी हटाने और शराब की दुकान खुलवाकर दारू के नजदीक जाना चाहते हैं।

एआइएमआइएम की मांग खारिज

मुख्‍यमंत्री ने एआइएमआइएम के विधायकों की मांग को सिरे से खारिज कर दिया। उन्‍होंने एआइएमआइएम की मांग के अनुसार पूर्णिया को बिहार की राजधानी बनाने से इंकार किया।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप