सुलतानपुर : नहर पटरियों की कटान का सिलसिला थम नहीं रहा है। कमजोर पटरी के चलते आए दिन नहरें कट रही हैं, जिससे सैंकड़ों बीघा फसल पानी में डूबकर बर्बाद हो रही है। सीएम पोर्टल पर शिकायत के बावजूद नहीं हुई कार्रवाई।

तहसील क्षेत्र से गुजर रही शारदा सहायक खंड-16 से कई रजबहा व माइनर निकले हैं। बरौंसा रजबहा से निकली अठैसी माइनर में पिछले एक सप्ताह से आवश्यकता से ज्यादा पानी का बहाव है। पानी के उफान से गुरुवार को माइनर की कटान से पांडेयपुर व अठैसी गांव के बीच करीब सौ बीघा फसल जलमग्न हो गई। शिकायत के बाद भी सिचाई विभाग के अधिकारियों ने पानी को बंद नहीं कराया है।

इसके चलते गेहूं, मटर, सरसों व गन्ने की फसल को काफी नुकसान हुआ है। गोपालपुर से निकली इस माइनर का टेल अठैसी में समाप्त होता है। झील या तालाब न होने से टेल का पानी भी किसानों की फसलों को प्रभावित करता है। अठैसी गांव के किसान राहुल सिंह ने सीएम हेल्पलाइन नंबर पर भी शिकायत दर्ज कराई है। बावजूद इसके कोई सुनवाई नहीं हुई।

पानी के लगातार बहाव से राहुल सिंह, पंकज सिंह, राम जनम, जगन्नाथ यादव, राजेश सिंह, दुर्गेश, शिव बहादुर सिंह समेत तमाम किसानों के खेतों में पानी लबालब भरा हुआ है, जिससे फसल बर्बाद होने का खतरा मंडरा रहा है। विभाग के एसडीओ विजय ने बताया कि शिकायत पर हेड से पानी बंद कराया गया था, जिसे ग्रामीणों द्वारा फिर खोल दिया गया। बहरहाल, उन्होंने तत्काल पानी बंद कराने और कटान को दुरुस्त कराने की बात कही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021