मधेपुरा। जिले में 16 जनवरी से शुरू हो रहे कोविड 19 वैक्सीनेशन अभियान की सारी तैयारी पूरी कर ली गई है। कोविड-19 वैक्सीन का 11,450 डोज गुरुवार को प्राप्त हो गया।

सिविल सर्जन डॉ. आरपी रमण और डीआइओ डॉ. विपिन कुमार गुप्ता ने बताया कि वैक्सीन स्टोर में रख दी गई है। कोविड 19 टीकाकरण के लिए राज्य स्तर से चिह्नित किए गए जिले के आठ स्वास्थ्य संस्थान को शुक्रवार तक वैक्सीन स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा पूरी सुरक्षा व्यवस्था के साथ उपलब्ध करा दी गई। ताकि 16 जनवरी से विधिवत टीकाकरण का कार्य शुरू किया जा सके। टीका लेने वाले लाभार्थियों में किसी प्रकार की दुष्परिणाम की घटना घटित होने पर जांच और उपचार की समुचित व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग की ओर से की गई है।

टीकाकरण के लिए चिह्नित किए गए हैं आठ स्वास्थ्य संस्थान राज्यस्तर से कोविड 19 टीकाकरण को लेकर चिन्हित किए गए आठ स्वास्थ्य संस्थानों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आलमनगर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चौसा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिहारीगंज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुमारखंड, अनुमंडलीय अस्पताल उदाकिशुनगंज, सदर अस्पताल, जननायक कर्पूरी ठाकुर चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल तथा मिशन अस्पताल शामिल है। इन सभी टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण कार्य को लेकर तीन कमरों को तैयार किया गया है। टीकाकरण केंद्रों पर हैंडवास व सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की गई है। सभी कमरों में पीने योग्य शुद्ध जल की व्यवस्था रहेगी। टीकाकरण स्थल के समीप एक स्वच्छ शौचालय की व्यवस्था की गई है। सभी कमरों में शारीरिक दूरी के साथ बैठने की व्यवस्था की गई है। टीकाकरण वाले कमरे में इंटरनेट, लैपटॉप, वेब कैमरा, प्रोजेक्टर व स्पीकर की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। टीकाकरण के बाद दुष्परिणाम को लेकर समुचित उपचार की है व्यवस्था

कोविड 19 टीकाकरण के बाद यदि किसी लाभार्थी में कोई दुष्परिणाम दिखता है तो तत्काल इलाज की व्यवस्था की गई है। वहीं संबंधित स्वास्थ्य संस्थान में समुचित उपचार की व्यवस्था संभव नहीं होने पर जिला से संबद्ध मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर किया जाएगा। इसके लिए रोगी को एंबुलेंस से चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी के साथ मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021