जेएनएन, कानपुर : 20 फीसद मासिक ब्याज व पांच माह में रकम दोगुनी करने का झांसा देकर जालसाजों ने मथुरा निवासी अनिल चौधरी से 14 लाख रुपये हड़प लिए। यही नहीं विरोध पर गालीगलौज करते हुए मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। डीआइजी के आदेश पर पीड़ित ने कोतवाली में महिला समेत पांच लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत की रिपोर्ट लिखाई है। मथुरा के नौझील थानाक्षेत्र के नावली गांव निवासी अनिल चौधरी ने बताया कि वह ट्रैफिक पुलिस लाइन निवासी अपने कांस्टेबल मामा विवेक के पास रहकर कोचिग कर रहे थे। इसी दौरान उनकी मुलाकात ज्योरा नवाबगंज निवासी बासु सिंह कठेरिया व लालबंगला निवासी दीपक से हुई थी। दोनों ने खुद को ट्रेडिग कंपनी का कर्मचारी बताते हुए निवेश की गई रकम पर मोटा ब्याज मिलने का झांसा दिया। इसके बाद उन्नाव निवासी राजेश सोनी, तेज नारायण शुक्ला व जूही निवासी आकांक्षा चौधरी से मिलवाया। आरोपितों ने निवेश करने पर पांच माह में दोगुनी रकम या हीरे व सोने के जेवर या प्लाट देने का प्रलोभन दिया। अनिल ने अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से उधार लेकर 14 लाख रुपये आरोपितों के खातों में जमा कर दिए। आरोप है कि तय समयसीमा खत्म होने के बाद भी आरोपितों ने न प्लॉट दिया और न मूलधन लौटाया। विरोध पर दुष्कर्म के मुकदमे में जेल भिजवाने की धमकी दी। थाना प्रभारी संजीवकांत मिश्र ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना की जा रही है। 25 लाख रुपये जीतने का झांसा देकर 1.33 लाख रुपये ठगे, कानपुर : केबीसी में 25 लाख रुपये जीतने का झांसा देकर साइबर ठग ने ग्वालटोली की युवती से अपने खाते में 1.33 लाख रुपये जमा करा लिए। ग्वालटोली अहिराना मोहल्ला निवासी प्रियंका सोनकर के पास छह दिसंबर को वाट्सएप कॉल आई। फोन करने वाले ने खुद को केबीसी का कर्मचारी बताते हुए प्रियंका को 25 लाख रुपये जीतने का लालच दिया। ठग ने 25 लाख रुपये चेक का फोटो भेजकर प्रोसेसिंग फीस व टैक्स के रूप में प्रियंका से 18200 रुपये जमा करा लिए। इसके बाद आरोपित ने विभिन्न मदों में 1.15 लाख रुपये और जमा करवाए। आइटी एक्ट की धारा में रिपोर्ट दर्ज की गई है। 3485 आवेदकों तक नहीं पहुंच सके ड्राइविग लाइसेंस, कानपुर: ड्राइविग लाइसेंस की सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद टेस्ट भी पास कर लिया। आवेदकों को उम्मीद थी की जल्द ही ड्राइविग लाइसेंस मिलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। संभागीय परिवहन अधिकारी कार्यालय में इस तरह के 3485 ड्राइविग लाइसेंस हैं जो आवेदकों तक नहीं पहुंच सके या आवेदक न मिलने पर वापस आ गए। आरटीओ प्रशासन संजय सिंह ने बताया कि जिस जिले के लाइसेंस हैं, वापसी की स्थिति में उनको वहीं भेजा जाए, इसके लिए कोशिश की जा रही है। चरस बेच रहीं शातिर महिलाएं गिरफ्तार, कानपुर : काकादेव पुलिस ने कोचिग मंडी व आसपास चरस बेच रहीं दो महिलाओं को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से करीब आधा किलो चरस बरामद हुई है। थाना प्रभारी रणबहादुर सिंह ने बताया कि गिरफ्तार महिलाओं में जीटी रोड लोहारन भट्ठा निवासी मुन्नी देवी और उसकी साथी बबली हैं। दोनों मूलरूप से कन्नौज के इंदरगढ़ थानाक्षेत्र के जगतापुर गांव के रहने वाली हैं। जासं

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021