एटा, जागरण संवाददाता: 22 दिनों में किसानों ने कृषि विभाग से छह सौ कुंतल गेहूं के बीज का उठान किया है। जिले में इस बार 3575 कुंतल गेहूं का बीज शासन ने भिजवाया है। पिछले साल की अपेक्षा इस बार किसान देरी से विभाग में बीज लेने के लिए पहुंच रहे हैं। गेहूं का बीज लेने वाले किसानों को पचास फीसद की छूट मिलेगी।

जिले को शासन ने 47 सौ कुंतल गेहूं का बीज आवंटन करने का लक्ष्य दिया था। जिसमें से कृषि विभाग के अधिकारियों ने 3575 कुंतल गेहूं के बीज का उठान किया। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि इस बार किसान देरी से बीज लेने के लिए पहुंच रहे हैं। जिस कारण विभाग को पूरे बीज का उठान न हो पाने की आशंका दिखाई दे रही है। कृषि विभाग ने प्रमाणित और फाउंडेशन गेहूं के बीज का उठान किया है। जिनका मूल्य अलग-अलग तय किया गया है। प्रमाणित बीज किसानों को 35.80 रुपये प्रतिकिलो और फाउंडेशन बीज 3815 रुपये प्रति कुंतल के हिसाब से दिया जा रहा है। जिला कृषि अधिकारी एमपी सिंह ने कहा कि जो किसान विभाग से गेहूं के बीज का उठान करेंगे, उन्हें शासन स्तर से पचास फीसद अनुदान दिया जाएगा। अनुदान राशि किसानों के सीधे खाते में पहुंचेगी।

-------

40 कुंतल से होगी जौ की प्रदर्शन खेती

कम मांग को देखते हुए कृषि विभाग ने 65 कुंतल जौ के बीज का उठान किया है। हालांकि शासन ने जिले को 80 कुंतल जौ का बीज आवंटित किया था। उठान किए गए बीज में 40 कुंतल से जौ की प्रदर्शन फसल तैयार कराई जाएगी। जबकि शेष बीज का किसानों को आवंटन किया जाएगा। जौ के बीज पर किसानों को छूट नहीं मिलती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस