जेएनएन, बुलंदशहर। कोरोना महामारी से कई माह तक पढ़ाई प्रभावित होने के बाद सोमवार से जिले के सभी डिग्री कालेजों में पढ़ाई सुचारू होने वाली है। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने सभी कालेजों को गाइडलाइन जारी कर दी है। कालेज में एक दिन में पचास फीसद छात्र-छात्राएं ही पढ़ाई के लिए आ सकेंगे। पचास फीसद छात्र-छात्राओं को घर पर रहकर आनलाइन ही पढ़ाई करनी होगी।

23 नवंबर से कालेजों में पढ़ाई सुचारू करने के लिए सभी कालेजों ने अपनी बिल्डिंग और कक्षाओं के अनुसार स्वयं ही रोस्टर बनाया है। इसके लिए विश्वविद्यालय ने ही छात्र-छात्राओं को बुलाने और रोस्टर स्वयं तैयार करने के निर्देश जारी किए थे। कालेज आने वाले सभी छात्र-छात्राओं के लिए मास्क शतप्रतिशत अनिवार्य होगा। कालेज गेट पर हाथों को सैनिटाइज कराने की भी व्यवस्था होगी। कक्षाओं को भी सैनिटाइज किया जाएगा। कोरोना के चलते पिछले आठ माह से बंद एडेड और सेल्फ फाइनेंस कालेजों की कक्षाएं अब चालू होंगी। विश्वविद्यालय की गाइडलाइन के मुताबिक एक दिन में कक्षा और कालेजों में पचास फीसद ही उपस्थिति रहेगी। इसके लिए कुछ कालेजों ने कक्षाओं को आधा करने का निर्णय लिया है और कुछ कालेजों ने कक्षाओं के छात्र-छात्राओं को पचास फीसद बुलाने का निर्णय लिया है। पहले दिन आने वाले पचास फीसद छात्र-छात्राएं अगले दिन घर पर रहकर पढ़ाई करेंगे। आनलाइन भी पढ़ाई चलाने की व्यवस्था रहेगी। कक्षा में छात्र-छात्राओं को शारीरिक दूरी के हिसाब से बैठाया जाएगा। कालेज आने वाले छात्र-छात्राओं की नियमित थर्मल स्कैनिग से भी जांच की जाएगी। आइपी डिग्री कालेज की प्राचार्य डा. पूनम पालीवाल ने बताया कि विश्वविद्यालय की गाइडलाइन का पालन करते हुए कक्षाएं चलाई जाएंगी। कक्षाएं चलाने के लिए रोस्टर तैयार है। बिना मास्क के प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस