संवाद सहयोगी, कुल्लू : जिला कुल्लू के भुंतर की प्रयास संस्था 12 साल से गरीब परिवारों, गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों व गरीब बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में सहायता कर रही है। संस्था ने इसी वर्ष नवंबर से पांच बच्चों को छात्रवृत्ति देना शुरू कर दी है जिसमें अनुज कुमार गांव देवधार जिला कुल्लू से हैं। इनके पिता गरीब हैं और दिहाड़ी लगाकर परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं। अनुज ने जमा दो में 95 फीसद अंक हासिल किए हैं। अब यह युवक हंसराज कॉलेज दिल्ली से बीएससी कर रहा है और संस्था प्रतिमाह एक हजार रुपये पढ़ाई के लिए भेज रही है। वहीं जोगेंद्रनगर के रहने वाले प्रेम शर्मा हमीरपुर इंस्टीट्यूट से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिग कर रहे हैं। उनको भी संस्था 1500 प्रतिमाह दे रही है। दो सगे भाई-बहन रूप चंद और अनीता देवी जो गांव दरव्यास रिवालसर जिला मंडी के रहने वाले हैं, बहुतकनीकी संस्थान से इंजीनियरिग कर रहे हैं। इन दोनों को भी संस्था प्रतिमाह पढ़ाई के लिए धनराशि दे रही है।

वहीं मंडी जिला के मंडोरी गांव के रहने वाले धीरज कुमार को भी संस्था सिविल इंजीनियरिग करवाने के लिए धनराशि प्रतिमाह उपलब्ध करवा रही है। यह धनराशि इन छात्रों को संस्था तब तक प्रतिमाह देती रहेगी जब तक इनकी ट्रेनिग समाप्त नहीं होगी। संस्था के संयोजक सुरेश गोयल व सहसंयोजक जीवन प्रकाश ने कहा कि शिक्षा के मामले में संस्था जरूरतमंद बच्चों के साथ हमेशा खड़ी है। वहीं मंडी की रहने वाली अनीता ठाकुर जिसको तीन वर्ष तक संस्था ने सहयोग किया, अब वह एमबीबीएस कर डॉक्टर लग गई है। भुंतर के एक लड़के को डेढ़ साल तक मदद की, उसने कंप्यूटर इंजीनियरिग कर अपना भविष्य संवार लिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस