जागरण संवाददाता, देहरादून। देहरादून के रेसकोर्स क्षेत्र के बाशिंदों को गर्मियों में पेयजल किल्लत से जल्द निजात मिल जाएगी। मंगलवार को क्षेत्रीय विधायक खजानदास ने रेसकोर्स क्षेत्र की बहुआयामी पेयजल योजना (लागत 237.15 लाख) का शिलान्यास किया, जिसमें 800 किलो लीटर क्षमता का ओवरहेड टैंक, ट्यूबवेल, राइजिंग मेन और पंप हाउस शामिल हैं। इस मौके पर विधायक ने कहा कि रेसकोर्स और आसपास के क्षेत्र में पेयजल की समस्या के निदान की मांग काफी समय से की जा रही थी। 

उन्होंने कहा कि पेयजल किल्लत के कारण क्षेत्रवासियों को अक्सर इधर-उधर भटकना पड़ता था। राज्य सेक्टर कार्यक्रम के तहत पेयजल समस्या के निराकरण को योजनाएं शुरू की जा रही हैं। स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना ही राज्य सरकार की प्राथमिकता है। उनका ये भी कहना है कि इस योजना का कार्य नौ माह में पूर्ण कर लिया जाएगा, जिसके बाद क्षेत्रवासियों को पर्याप्त पेयजल आपूर्ति शुरू हो जाएगी।

विधायक ने कहा कि सरकार की सजगता के कारण आज प्रदेशभर में जनमानस से जुड़ी तमाम समस्याओं का निस्तारण त्वरित गति से हो रहा है। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल गोयल, पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता दीपक मलिक, पार्षद देवेंद्र पाल सिंह मोंटी, विमला गौड़, अनीता गर्ग, भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य हरीश डोरा, मंडल अध्यक्ष विशाल गुप्ता, विजय थापा आदि उपस्थित रहे। 

पीआरडी कर्मियों के साथ धरने पर बैठे कांग्रेसी 

दून अस्पताल परिसर में धरने पर बैठे पीआरडी संविदा कर्मियों को कांग्रेस ने समर्थन दिया। मंगलवार को कांग्रेस महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ता भी धरने में शामिल हुए। इस दौरान महानगर अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि कोरोना काल में संविदा पर रखे गए कर्मचारियों को अब हटाया जा रहा है। इससे कर्मचारी खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। वहीं पूर्व विधायक राजकुमार भी धरना स्थल पहुंचे और कर्मचारियों को समर्थन दिया। इस मौके पर प्रदेश सोम प्रकाश वाल्मीकि, अमीचंद सोनकर, इमराना परवीन, हरि किशोर, विकास नेगी आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने उत्तराखंड में विभिन्न सड़क परियोजनाओं के लिए मंजूर किए 342 करोड़ रुपये

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप