जेएनएन, रोजा, शाहजहांपुर : बालक का कटा सिर लेकर कुत्ते गांव में घूमते रहे। गुरुवार शाम ग्रामीणों की नजर पड़ी तो पुलिस को सूचना दी, लेकिन दो घंटे तक मौके पर कोई नहीं पहुंचा। एसपी को जानकारी दी तो उन्होंने संज्ञान लिया, जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक गांव पहुंचे और सिर को गड्ढे में दफन करा दिया। ग्रामीण हत्या की आशंका जता रहे हैं। हालांकि पुलिस इससे इन्कार कर रही है।

रामचंद्र मिशन थाना क्षेत्र के रौसर कोठी गांव निवासी देवनारायन के खाली पड़े बग्गर में शाम करीब छह बजे एक पांच वर्षीय बच्चे का कटा सिर पड़ा था। आसपास कुत्ते मंडरा रहे थे। ग्रामीणों की नजर पड़ी तो एक कुत्ता सिर लेकर गांव की ओर भाग खड़ा हुआ। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। पीछा कर लोगों ने कुत्ते से बच्चे का सिर छुड़ाया। एसपी एस आनंद के निर्देश पर करीब आठ बजे प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से पूछताछ की। धड़ का हिस्सा तलाश किया, पर कहीं नहीं मिला। बच्चे की भी किसी ने शिनाख्त नहीं की, जिस पर उन्होंने सिर को गड्ढे में दफन करा दिया।

पुलिस का तर्क

पुलिस का कहना है कि गांव के पास में नदी है। हो सकता है किसी ने बच्चे का शव प्रवाहित किया हो। कुत्ते उसे खींच लाए होंगे। जिससे सिर धड़ से अलग हो गया होगा। जबकि बच्चे का चेहरा बिल्कुल साफ है। उसके सिर से हल्का खून रिस रहा है। अगर कुत्ते उसका चेहरा खींचकर लाए होते हो चेहरे पर खरोंच के और निशान भी होते। ऐसे में आशंका जतायी जा रही है कि किसी ने बच्चे की हत्या कर उसका सिर व धड़ अलग-अलग फेंक दिया हो। वर्जन

गांव में बच्चे का जो सिर मिला है वह कुत्ते नदी से खींचकर लाए होंगे इसकी संभावना ज्यादा है। हत्या जैसी कोई बात सामने नहीं आ रही है। न ही गांव में कोई गुमशुदगी मिली है। पुलिस जांच कर रही है।

एस आनंद, एसपी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021