गया : ग्रामीण विकास विभाग के तत्वावधान में गुरुवार को राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के अंतर्गत युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में नि:शुल्क रोजगार उपलब्ध जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया गया। इसके लिए 24 प्रचार रथ को समाहरणालय परिसर में जिला पदाधिकारी अभिषेक सिंह के द्वारा हरी झंडी दिखाकर •िाले से सभी प्रखंडों के लिए रवाना किया गया। यह प्रचार वाहन जिले के सभी प्रखंडों एवं पंचायतों में घूम घूम कर दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना का प्रचार प्रसार करेगी। जिससे युवा विभिन्न क्षेत्रों में निशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने रो•ागार के लिए जागरूक हो सकेंगे। सभी प्रचार वाहन में ऑडियो रिकॉर्डिंग, फ्लेक्स बोर्ड में महत्वपूर्ण जानकारी से लैश ये वाहन तीन दिनों के लिए चलाया जाएगा।

---------------

युवा निशुल्क विभिन्न विधाओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर अपना करेंगे कौशल संबंर्धन

•िाला पदाधिकारी ने बताया कि प्रचार प्रसार से बेरो•ागार युवाओं को काफी हद तक लाभ मिलेगा। •िाले के युवा निशुल्क विभिन्न विधाओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर अपना कौशल सम्बर्धन करेंगे तथा नियोजन प्राप्त करेंगे। उन्होंने निदेश दिया कि इन प्रचार वाहन के माध्यम से सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर इस योजना के बारे में विस्तार से बताया जाए। डीपीएम जीविका मुकेश कुमार द्वारा बताया गया कि ग्रामीण युवक व युवती जो बीपीएल य जीविका स्वयं सहायता परिवारों से हो या जिन्हें मनरेगा के तहत कम से कम एक वर्ष में 35 दिनों का काम प्राप्त हो, वे इस योजना से लाभ प्राप्त करने के लिए योग्य उम्मीदवार होंगे। इस योजना में अनुसूचित जाति-जनजाति और महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।

--------------- निशुल्क प्रशिक्षण एवं न्यूनतम 70 प्रतिशत युवाओं को रोजगार का अवसर

प्रशिक्षण के लिए मुख्य ट्रेड के रूप में हॉस्पिटैलिटी असिस्टेंट, भवन निर्माण, आटोमोटिव रिपेयरिग, सिक्योरिटी सर्विसेज, कंप्यूटर, इलेक्ट्रिकल, मोबाइल रिपेयरिग, रेफ्रिजरेटर रिपेयरिग, नर्सिंग असिस्टेंट, सेल्स मार्केटिग वस्त्र एवं परिधान, सूचना व संचार प्रौद्योगिकी, बैंकिग एवं लेखांकन, यात्रा एवं पर्यटन, कूरियर एवं लॉजिस्टिक, प्लंबिग आदि शामिल हैं। इसमे निशुल्क प्रशिक्षण, यूनिफॉर्म एवं पुस्तक की व्यवस्था, प्रशिक्षण के उपरांत न्यूनतम 70 प्रतिशत युवाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा। साथ ही आवासीय एवं गैर आवासीय प्रशिक्षण केंद्र की सुविधा, प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार के उपरांत अधिकतम 6 माह तक 1000 रुपए प्रतिमाह आर्थिक सहयोग, गैर आवासीय प्रशिक्षण की स्थिति होगी। जिसमें प्रतिदिन की उपस्थिति के हिसाब से 125 रुपए भोजन एवं यात्रा भत्ता तथा प्रशिक्षण के उपरांत एनसीवीटी-एसएससी का प्रमाण पत्र प्रशिक्षणार्थियों के लिए विशेष सुविधा दी जाएगी। •िाले के सभी बेरो•ागार युवाओं से जिलाधिकारी ने अपील किया के वे इस प्रचार वाहन के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए संबंधित प्रखंड के जीविका कार्यालय में संपर्क स्थापित कर जानकारी प्राप्त कर सकतें हैं। इस अवसर पर डीपीएम जीविका मुकेश कुमार, प्रबंधक संचार, जीविका दिनेश कुमार, प्रबंधक, रो•ागार, जीविका ज्योति प्रकाश शामिल थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021