लखनऊ, जेएनएन। सर मैं स्मृति अपार्टमेंट के जी ब्लाॅक में 12वीं मंजिल पर रहती हूं, फ्लैट में रहने के दौरान दिमाग में एक संशय हमेशा बना रहता है अगर बिजली चली जाए तो नीचे कैसे उतरेंगे, अब मैं इस उम्र में न इतनी सीढ़िया चढ़ सकती हूं और न उतर। मैं एक बार इस तरह फंस चुकी हूं। प्लीज लिफ्ट बिजली जाने के बाद भी चले, इसलिए बैक अप की व्यवस्था करवा दीजिए। सीमा सिंह की बातें सुनकर डीएम व लविप्रा उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश ने समस्या का निदान कराने का जल्द ही आश्वासन दिया। वहीं बच्चों ने कहा कि डीएम अंकल हम लोगों के खेलने के लिए अपार्टमेंट में न झूले हैं और न पार्क, आप ही बताएं अंकल हम लोग कहां खेलने जाए। उपाध्यक्ष ने बच्चों से कहा कि लविप्रा में प्राविधान होगा तो उस निधि से कराएंगे नहीं तो जिला प्रशासन इसकी व्यवस्था कराएगा। उपाध्यक्ष ने सृष्टि अपार्टमेंट में सभी कमियों को तीन माह और स्मृति अपार्टमेंट की कमियों को छह माह में दूर करने के निर्देश दिए हैं। उधर बेसमेंट निर्माण व सड़क गुणवत्ता की जांच के निर्देश दिए हैं।

डीएम व लविप्रा उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश को 23 फरवरी की तिथि को सृष्टि अपार्टमेंट का दौरा करना था। शाम तक जब उपाध्यक्ष नहीं पहुंचे तो सृष्टि व स्मृति के आवंटियों ने फोन करके आने की गुजारिश की, इस पर डीएम व लाविप्र उपाध्यक्ष की गाड़ी कुर्सी रोड स्थित सृष्टि अपार्टमेंट शाम सात बजे के आसपास पहुंच गई। आवंटी विवेक शर्मा ने सृष्टि अपार्टमेंट की दर्जनों कमियां गिनाई, आरोप लगाया कि दर्जनों बार अवर अभियंता से लेकर अधिशासी अभियंता तक फरियाद कर चुका हूं। सीलन, जलभराव, लाइटिंग, वर्षा जल संचयन, फायर सिस्टम, सोलर सिस्टम, बेसमेंट व बेसमेंट की सड़क, कॉमन एरिया की सड़कें सहित दर्जनों समस्याएं गिनाई और डीएम ने मौके पर जाकर एक एक चीजें देखी भी। डीएम ने ठेकेदार को फटकार लगाते हुए तीन माह की मोहलत दी। साथ ही कहा कि वह कही जाने वाले नहीं है।

डीएम व लविप्रा उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश ने दौरा खत्म ही किया था, तभी स्मृति अपार्टमेंट के आवंटी आ गए और अपने अपार्टमेंट का दौरा करने का निवेदन करने लगे। डीएम ने सृष्टि अपार्टमेंट के सामने स्थित स्मृति अपार्टमेंट के आवंटियों के साथ तीस मिनट तक यहां भी दौरा किया। यहां अरुण श्री त्रिवेदी, अल्विन, श्रेया, कुशाग्र, विराट व आलिया खान बच्चों ने डीएम से पार्क व झूले लगवाने का अग्राह किया। वहीं सृष्टि अपार्टमेंट रवि शर्मा, अभिषेक सारस्वत, कुलदीप सिंह, सैफ खान, राकेश बाजपेयी ने उपाध्यक्ष को लिफ्ट में पानी की छीटें आने के साथ ही निर्माणाधीन फ्लैटों कोपूरा करवाने के साथ ही निर्माण सामग्री को हटवाने की बात कही। आवंटियों ने कहा कि यूटिलिटी डक्ट पूरी तरह से खुला पड़ा है, इसमें कोई भी बच्चा गिर सकताहै, इस पर उपाध्यक्ष ने इसे बंद करने के निर्देश ठेकेदार को दिए हैं। यहां ठेकेदार ने बताया कि उसके टेंडर में फायद उपकरण का उल्लेख नहीं है। इस पर उपाध्यक्ष ने अधिशासी अभियंता केके बंसला से फायर उपकरण लगवाने के निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान विशेष कार्याधिकारी डीके सिंह, नायाब तहसीलदार स्निग्धता चतुर्वेदी, सहायक अभियंता अजय गोयल मौजूद रहे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप