दरभंगा। छठ महापर्व के बाद दरभंगा से बाहर परदेसों को जाने वाले यात्रियों को कोरोना काल के बीच भी कन्फर्म टिकट नहीं मिल रहा है। दरभंगा जंक्शन से खुलने वाली सभी ट्रेनें फुल चल रही हैं। छठ के बाद 22 नवंबर से 17 जनवरी 2021 तक दरभंगा से बाहर के राज्यों में जाने वाली सभी ट्रेनों में लंबी वेटिग चल रही है।

छठ पूजा के बाद वापसी में सभी नियमित ट्रेनों में सीटें फुल हो गई हैं। इसलिए अब वापसी के लिए सीटों की मारामारी शुरू हो गई है, इससे यात्रियों की दिक्कतें बढ़ गई हैं।

पहले आने में हुई दिक्कतें अब जाने में भी समस्या बरकरार छठ पूजा पर पहले दरभंगा आने वाली ट्रेनों में भीड़ थी। अब वापसी को लेकर ट्रेनों में मारामारी शुरू हो गई है। छठ पूजा के बाद समस्तीपुर मंडल के दरभंगा जंक्शन से दिल्ली, मुंबई आदि राज्य राज्य जाने वाली ट्रेनों में सीट फुल रहने के कारण टिकट दलाल भी सक्रिय हो गए हैं।

इन ट्रेनों में सीटें चल रही फुल

गाड़ी संख्या 02565, दरभंगा नई दिल्ली, पांच जनवरी तक सीटें फुल

गाड़ी संख्या 02559, जयनगर- नई दिल्ली, दो दिसंबर तक सीटें फुल

गाड़ी संख्या 04651, जयनगर- दिल्ली, एक दिसंबर तक सभी सीटें फुल

गाड़ी संख्या 04091, जयनगर-नई दिल्ली, 29 नवंबर तक सभी सीटें फुल

गाड़ी संख्या 04649, जयनगर- नई दिल्ली, 29 दिसंबर तक सभी सीटें फुल

गाड़ी संख्या 01062, दरभंगा- लोकमान्य तिलक, 17 जनवरी तक सीटें फुल

गाड़ी संख्या 02545, रक्सौल- लोकमान्य तिलक, 26 नवंबर तक सीटें फुल

गाड़ी संख्या 04407 दरभंगा-नई दिल्ली, 27 नवंबर तक सीटें फुल

गाड़ी संख्या 04673 जयनगर-नई दिल्ली, नौ जनवरी तक सीटें फुल

-------

हवाई चप्पल वाले नहीं कर रहे हवाई सफर

दरभंगा से हवाई सेवा चालू होने के बाद भी ट्रेनों में भीड़ नहीं कम हो रही है। मध्य वर्गीय यात्री अब भी ट्रेनों से ही यात्रा करना पसंद कर रहे हैं। पिछले साल के मुकाबले इस साल भी छठ महापर्व के बाद ट्रेनों में लंबी वेटिग लिस्ट चल रही है। यात्रियों को ट्रेन की टिकट लेने में पसीने छूट रहे हैं। बता दें कि दरभंगा से हवाई सेवा चालू होने के बाद क्षेत्र के लोगों को मुंबई, दिल्ली और बेंगलुरू आवागमन में जहां सुविधा मिल रही है। वहीं दूसरी ओर हवाई टिकट के बढ़ते किराए को देखकर दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू जाने वाले यात्री ट्रेनों की ओर अपना रूख कर रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस