बहजोई: कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में पढ़ने वाली अधिकतर छात्राएं कक्षा 8 के बाद की पढ़ाई-लिखाई छात्रावास न होने के कारण छोड़ देती थीं। लेकिन अब उन्हें कक्षा 9 से 12 तक की पढाई को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। शासन के निर्देश पर जनपद में पांच राजकीय इंटर कॉलेजों में साढे आठ करोड़ की लागत से आवासीय छात्रावास बनाए जा रहे हैं। यहां रहकर कस्तूरबा आवासीय विद्यालयों की छात्राएं कक्षा 9 से 12 वीं तक की पढाई करेंगी।

जिले के आठ ब्लाकों व दो नगर क्षेत्र में एक एक कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय है। प्रत्येक विद्यालय में 100-100 छात्राओं की पढाई की व्यवस्था है । छात्राओं को कक्षा आठवीं तक पढ़ाया जाता है। सर्वे में सामने आया है कि आठवीं के बाद अधिकतर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राएं पढाई छोड़ देती है।आवासीय स्कूल से निकलकर अन्य स्थानों पर पढ़ाई के लिए अभिभावक अनुमति नहीं देते। अब इन छात्राओं को नौवीं से 12वीं तक की पढ़ाई भी आवासीय सुविधा के साथ कराई जाएगी। जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार आर्य ने बताया कि इन छात्राओं के लिए छात्रावासों का निर्माण कराया जा रहा है । इनमें पांच राजकीय इंटर कॉलेज शामिल हैं। खंड शिक्षा अधिकारियों की भी जिम्मेदारी होगी कि वह कस्तूरबा विद्यालयों से 8 वीं पास करने वाली छात्राओं का दाखिला 9 वीं कक्षा में इन राजकीय विद्यालयों में कराएंगे। इन विद्यालयों में बन रहे छात्रावास

छात्रावासों का निर्माण उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लिमिटेड मुरादाबाद द्वारा 8 करोड़ 51 लाख 25 हजार रुपये से कराया जाना है। जिसमें 3 करोड़ 33 लाख की धनराशि शासन से संस्था के लिए अवमुक्त भी हो चुकी है। जिले के राजकीय उत्तर माध्यमिक विद्यालय हरथला, राजकीय इंटर कॉलेज सिकंदरपुर सराय, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज सिरसी, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बेरनी, राजकीय इंटर कॉलेज लहरावन में छात्रावास का निर्माण कार्य चल रहा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021