राजीव कुमार, पूर्णिया : गुलाबबाग बाजार समिति में बनाए गए दस नए दुकानों के फर्जी आवंटन मामले का मास्टर माइंड राहुल नाम का एक युवक है। इस मामले में ठगी के शिकार हुए लाभुकों का कहना है की इसी युवक ना ना केवल दुकान आवंटन के फर्जी कागजात दिए बल्कि दुकान आवंटन के नाम पर राशि भी वसूली। यही नहीं उसने कुछ लाभुकों से बिना नाम वाले चेक लेकर खुद बैंक में जाकर उस बिना नाम वाले चेक से रूपए की निकासी भी की है। दुकान के नाम पर ठगी का मामला सामने आने के बाद इसके शिकार में फंसे लाभुकों के बीच हड़कंप मच गया है। बताया जाता है की दुकान आवंटन के नाम पर लोगों का झांसा देने के लिए इस मामले के मास्टर माइंड ने पहले खुद ही अपने नाम पर दुकान आवंटित होने का फर्जी एकरारनामा तैयार किया। इसके बाद उसे दिखाकर उसने कई लाभुकों को अपने चंगुल में फंसाया। फर्जी दुकान आवंटन का कागजात देखकर कई लाभुक उसके झांसे में आ गए तथा दुकान आवंटन कराने के नाम पर मुंहमांगी रकम देने को तैयार हो गए। लाभुकों को और किसी तरह का शक ना हो इसके लिए इस युवक ने पैसे लेनदेन का ठिकाना भी सदर एसडीओ कार्यालय एवं आवास के पास बनाया ताकि लाभुक यह समझ सकें की उनके द्वारा दी गयी रकम आवंटित करने वाले पदाधिकारी के पास पहुंच रही है। बताया जाता है की जब कई लाभुकों को अपने ठगी का अहसास हुआ तो वे पैसा लौटाने का दवाब बनाने लगे। जिसके बाद युवक ने किसी भी तरह के इस तरह के लेनदेन से साफ इंकार कर दिया। इसके बाद कई बार मामला आपसी पंचायत तर पहुंची जिसमें मामला को आपस में सलटा लेने पर सहमति बनी। मगर इसके बाद भी जब मामला नहीं सुलझा और ली गयी रकम नहीं लौटाई गयी तो पीड़ितों ने अब इस मामले में पुलिस की शरण में जाने का फैसला किया है। ठगी के शिकार हुए लाभुकों ने बताया की राहुल ही दुकान आवंटन के नाम पर पैसे लेकर गया है तथा हर किसी को इसके एवज में फर्जी कागजात उपलब्ध कराया गया। सभी को भेजा जाएगा नोटिस दुकान आवंटन को लेकर जो फर्जी पत्र सामने आया है और उसमें जिन दस लाभुकों के नाम और पते का उल्लेख है उन सभी को अब नोटिस भेजने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। इस संबंध में सदर अनुमंडल पदाधिकारी विनोद कुमार ने बताया की इन सभी को नोटिस भेजकर यह बताया जाएगा की इस तरह का कोई आवंटन नहीं हुआ है और उनके पास जो फर्जी कागजात दिए गए हैं उसे मांगा जाएगा। उन्होंने कहा कि वैसे भी इस तरह के ठगी के शिकार हुए सभी लाभुकों को अपनी शिकायत लिखित रूप से स्थानीय थाने में दर्ज करानी चाहिए। मगर ठगी के शिकार हुए लोगों द्वारा इस तरह का मामला दर्ज नहीं कराया जाता है तो अनुमंडल कार्यालय के फर्जी मुहर एवं फर्जी हस्ताक्षर को लेकर जांच कराकर इस पूरे मामले के मास्टर माइंड के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

------------------------------------------------

ठगी के शिकार लोगों ने मास्टर माइंड के मोबाइल का काल डिटेल निकालने की रखी मांग

-------------------------------------------------

बाजार समिति में फर्जीवाड़ा के शिकार हुए लोगों ने इस मामले के मास्टर माइंड युवक के मोबाइल काल डिटेल खंगालने की मांग की है। उनकी शिकायत है की वह अक्सर जिन लोगों को अपना शिकार बनाता था उनके सामने ही वह कई बार सदर एसडीओ सहित उनके कार्यालय में कार्यरत कर्मियों सहित राज्य के कई आला अधिकारियों से फोन पर बात करता था। उसके द्वारा मोबाइल फोन से की गयी बातचीत कितनी सही थी इसका खुलासा उसके काल डिटेल जांच से हो सकता है। ठगी के शिकार लाभुकों ने बताया की वह अक्सर एक दिन में की बार एसडीओ से बात करता था। वह एसडीओ के नाम वाले नंबर पर फोन करके कहता था की आपका काम हो जाएगा। लाभुकों का कहना है की मोबाइल काल डिटेल बहुत बड़ा खुलासा कर सकता है। लाभुकों ने यह सवाल भी उठाया है की अगर वह सदर एसडीओ से हर दिन कई बार बात कर रहा था तो किस अधिकार से और अगर नहीं कर रहा था तो वह कौन सा फर्जी एसडीओ था जिससे वह हर दिन बात करके लोगों को अपनी जाल में फंसाता था।

-----------------------------------------------------------

राहुल ने कहा इस मामले से उसका कोई लेना देना नहीं

--------------------------------------------------

इस पूरे मामले के मास्टर माइंड राहुल नाम के युवक ने कहा की उसे इस मामले की किसी तरह की कोई जानकारी नहीं है। लाभुकों की सूची में खुद उसका नाम कैसे आया नहीं पता। उसे बेवजह फंसाने की साजिश की जा रही है। उसने ना तो किसी से दुकान आवंटन के नाम पर पैसे लिए हैं और ना ही किसी को दुकान आवंटन का कोई फर्जी कागजात दिया है। फर्जी आवंटन मामले की जांच कराई जाएगी, इसके लिए जिन लाभुकों के नाम सामने आए हैं उन्हें नोटिस भेजकर इस बात की सूचना दी जाएगी की इस तरह का कोई आवंटन नहीं हुआ है इसके बाद उनके पास दिए गए कागजात को जुटाकर इस मामले के दोषी जालसाज के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

विनोद कुमार सदर अनुमंडल पदाधिकारी पूर्णिया

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021