मुजफ्फरपुर : केंद्रीय बजट को लेकर उद्योग जगत को बहुत ही उम्मीद है। उद्यमियों का मानना है कि बेला औद्योगिक इलाके का विकास हो, इसके साथ मेगा फूड पार्क व रेडीमेट वस्त्र का क्लस्टर बनना चाहिए। इससे उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। कृषि आधारित उद्योग में मिले सहयोग

लघु उद्योग भारती के निर्वतमान प्रदेश अध्यक्ष श्यामसुंदर भीमसेरिया ने कहा कि केंद्र सरकार कृषि आधारित उद्योग में सहयोग करे। बिहार में मानसी के पास फूड पार्क बना है। वह सफल नहीं हुआ है क्योंकि वह निजी क्षेत्र से बना है। मोतीपुर में नौ सौ एकड़ जमीन बियाडा को मिली है। वहा मेगा फूड पार्क बने तथा टेक्सटाइल्स क्लस्टर बनना चाहिए। इस कदम से सरकार के वोकल फार लोकल अभियान को बल मिलेगा।

उद्यमियों को सुगमता से ऋण मिले

उद्यमी पंचम कुमार कहते हैं कि

उद्योग को बैंक का सहयोग जिस तरह से मिलना चाहिए वह नहीं मिल पा रहा है। उद्यमियों को आवश्यकता के हिसाब से सुगमता से ऋण मिले इसमें एमएसएमइ सेक्टर को प्राथमिकता दी जाए। नई औद्योगिक नीति को जमीन पर उतारने के लिए निगरानी समिति बने। बकाया सब्सिडी का हो भुगतान

उत्तर बिहार उद्यमी संघ के संरक्षक चितरंजन कुमार ने कहा कि पूर्व की औद्योगिक नीति के तहत 10-15 साल से सब्सिडी बकाया है उसका अविलंब भुगतान किया जाए। इसके शिविर लगाया जाए। हाउसिंग बोर्ड की तरह औद्योगिक इलाके की जमीन को फ्री होल्ड किया जाए।

रियायती बिजली मिले

उद्यमी विजय चौधरी ने रियायती दर पर बिजली मिलनी चाहिए ताकि इससे उद्योग को बढ़ावा मिले। बेला औद्योगिक परिसर में सड़क, बिजली, के साथ वहां पर सुलभ शौचालय की व्यवस्था व जलजमाव से मुक्ति के उपाय किया जाए। अभी बियाडा में पूर्णकालिक एमडी की जरूरत है। जिला मुख्यालय में पूर्णकालिक कार्यकारी निदेशक की जरूरत है। ------------------------

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021