-----फोटो:-14बीएजीपी17----

जागरण संवाददाता, बागेश्वर: महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए चीता का गठन किया गया है। सभी थाने, कोतवाली में शत प्रतिशत मामलों का निपटारा कर आरोपितों को जेल भेज दिया गया है। महिला सुरक्षा पर पुलिस प्राथमिकता से कार्य कर रही है।

आधी आबादी की सुरक्षा के लिए पुलिस ने कमर कस ली है। महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए महिला चीता को सक्रिय कर दिया गया है। जो महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक तो करेगी ही वही उनकी सुरक्षा भी करेगी। समय-समय पर गांवों, शहरों में अभियान भी चलाए जाते रहते है। वहीं महिला संबंधी जितने भी मामले थाने, कोतवाली में है उनका शत-प्रतिशत निपटारा कर दिया गया है। सभी आरोपित सलाखों के पीछे है। वहीं सभी थाने, चौकियों को निर्देशित किया गया है कि महिला संबंधित मामलों को प्राथमिकता से हल करें।

पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा ने बताया कि उनकी प्राथमिकता महिला सुरक्षा है। पिछले चार माह में सभी मामलों का निपटारा कर दिया गया है। किसी भी अपराधी को नही छोड़ा जाएगा। वहीं चीता के माध्यम से जन जागरुकता अभियान भी चलाया जा रहा है। उन्होंने सभी से खासकर महिलाओं से अपील की है कि उनके साथ होने वाली किसी प्रकार की हिसा की रिपोर्ट तत्काल संबंधित थाने, चौकियों में दर्ज करें। प्राथमिकता के साथ उसका निपटारा किया जाएगा। फिलहाल जिले में किसी प्रकार के महिला संबंधी मामले लंबित नही है। उन्होंने कहा कि महिलाएं निर्भीक होकर रहें। पुलिस प्रशासन ने इसके लिए ठोस प्रयास किए हैं। प्रशासन इसके लिए पूरी तरह से प्रयासरत है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021