कुशीनगर : हाटा तहसील क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में पराली जलाने पर हाटा कोतवाली में रविवार को 17 किसानों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। प्रशासन ने इन किसानों पर अर्थदंड भी लगाया है।

एसडीएम प्रमोद कुमार तिवारी ने बताया कि पराली जलाने पर रोक है। सेटेलाइट के जरिये शहर व ग्रामीण इलाकों की निगरानी की जा रही है। 31 अक्टूबर से 21 नवंबर तक 17 किसानों द्वारा पराली जलाने के मामले सामने आए हैं। इनके विरुद्ध कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है। एसडीएम ने बताया कि आरोपित सभी 17 किसानों पर 25-25 सौ रुपये अर्थदंड भी लगाया गया है। उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि वे पराली न जलाएं, इससे पर्यावरण को क्षति पहुंचने के साथ खेत भी प्रभावित हो रहा जिसका असर फसलों के उत्पादन पर भी पड़ रहा है। 21 किसानों को मकान के लिए मिलेगा पट्टा

कसया तहसील सभागार में रविवार को कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट में ली जाने वाली भूमि में प्रभावित किसानों की बैठक ज्वाइंट मजिस्ट्रेट पूर्ण बोरा की अध्यक्षता में हुई। लगभग सभी मांगों पर सहमति बन जाने के कारण यह बैठक सार्थक रही।

यह भी निर्णय लिया गया कि 21 किसान बंजर भूमि पर मकान बनाकर रह रहे हैं। उन्हें भी मकान बनाने के लिए पट्टा दिया जाएगा। एयरपोर्ट विस्तार में 34 एकड़ जमीन की आवश्यकता पड़ रही है। इसमें सर्वाधिक भलुही मदारी पट्टी व बेलवा दुर्गा राय की जमीन ली जानी है। इन दोनों गांवों में 70 परिवारों के मकान प्रभावित हो रहे हैं। किसानों की मांग है कि जो बेघर हो रहा है उसके घर का मूल्यांकन वर्तमान दर करके मुआवजा दिया जाए तथा मकान बनवाने के लिए जमीन दी जाए। किसानों का जवाब देते हुए बोरा ने कहा कि वर्तमान दर से मकान का मूल्यांकन हो और मकान के जमीन के बदले जमीन मिले इसको लेकर शासन से वार्ता कर अनुमति मांगी जाएगी। बोरा ने कहा कि 13 परिवार भलुही मदारी पट्टी के व आठ परिवार बेलवा दुर्गा राय के ऐसे हैं जिन्होंने बंजर भूमि पर मकान बनवाए हैं। उन्हें भूमि नहीं मिलेगी। किसानों के अनुरोध किया पर उन्होंने आश्वासन दिया कि उन्हें भी पट्टा दिलाने का प्रयास होगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस