नई दिल्ली [मनु त्यागी]। देश के प्रधानमंत्रियों से जुड़ी हर जानकारी, उनके भाषण, स्मृतियां, उनके द्वारा किए गए विकास कार्य, उनकी नीतियां, सफलता और चूक यह सब कुछ अब एक क्लिक पर सामने होगा। भारत के हर प्रधानमंत्री से जुड़ी ऐसी हर जानकारी जो जनता को पता होनी चाहिए, उन्हें एक जगह सहेजा जाएगा।

नई दिल्ली स्थित नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय (एनएमएमएल) के निदेशक शक्ति सिन्हा के मुताबिक केंद्र सरकार द्वारा नेहरू स्मारक में सभी प्रधानमंत्रियों पर आधारित संग्रहालय बनाने का कार्य शुरू हो चुका है। आजादी से अब तक और भविष्य के प्रधानमंत्रियों के विवरण डिजिटल तौर पर सहेजे जाएंगे।

देश-विदेश से पहुंचते हैं शोधार्थी, पर्यटक 

शक्ति कहते हैं, इस डिजिटल संग्रहालय की विशेषता यही है कि यहां आप खुद तय करेंगे कि आपको किसके बारे में जानना-देखना-सुनना है। किसकी तस्वीरें देखनी हैं, किसके भाषण सुनने हैं, किसके पत्र पढ़ने हैं। इसमें आपको प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल का तुलनात्मक विवरण भी मिलेगा। खास बात यह कि शोधकर्ताओं को यदि किसी विषय पर या प्रधानमंत्री पर शोध करना है तो वह आसानी से एक ही जगह पर सभी जानकारी हासिल कर सकेंगे।

दुनिया भर के देशों शोधकर्ता आते हैं

यहां सिर्फ भारत से ही नहीं बल्कि दुनिया भर के देशों शोधकर्ता आते हैं। हम एक समय में एक ही व्यक्ति को दस्तावेज या जानकारी उपलब्ध करा पाते हैं, लेकिन डिजिटाइजेशन के बाद यह समस्या समाप्त हो जाएगी। दस्तावेज सुरक्षित भी रह सकेंगे। बकौल शक्ति, हमने कुछ दिन पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और नरसिंह राव पर एक डिजिटल प्रदर्शनी का आयोजन किया था, जो बहुत सफल हुई, बहुत पर्यटक आए।

जुटाई जा रहीं जानकारियां 

शक्ति ने बताया, हम सबसे पहले नेहरू से जुड़ी यादों को खोज रहे हैं। उनके परिवार के लोगों से, उन्हें जानने-समझने वालों से, जहां कहीं भी देशभर में उनसे जुड़ी यादें हैं, उन्हें संजोया जा रहा है। नेहरू गांधी के रिश्ते भी यूं ही संजोकर रखे जाएंगे। नेहरू संग्रहालय को और बेहतर किया जाएगा। इसके अलावा बाकी सभी प्रधानमंत्रियों के बारे में भी उनके परिवारों से, सरकार व लोकसभा, राज्यसभा की वेबसाइट, सरकारी विभागों से, उनकी बायोग्राफी या अन्य किताबों से, पुस्तकालयों के अलावा दूरदर्शन से भी जानकारी जुटाई जा रही है।

दुर्लभ तस्वीरें और वीडियो जुटाए गए हैं

शक्ति कहते हैं कि हमारी पूरी टीम काफी मेहनत कर रही है। अब काम काफी तेजी से आगे भी बढ़ रहा है। अनेक दुर्लभ तस्वीरें और वीडियो जुटाए गए हैं। प्रधानमंत्रियो की सफलता-कमियों को प्रामाणिक तथ्यों के रूप में सामने रखा जाएगा। हम इसमें अपनी ओर से न तो कुछ जोड़ेंगे और न ही घटाएंगे।

Posted By: Amit Mishra