कोलकाता, राज्य ब्यूरो। फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी ने अपनी नई पार्टी इंडियन सेकुलर फ्रंट (आइएसएफ) के बैनर तले मंगलवार को शक्ति प्रदर्शन किया। सियालदह से धर्मतल्ला तक एक रैली निकाली, जिसमें हजारों लोग शामिल हुए। सिद्दीकी का यह शक्ति प्रदर्शन ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की कोलकाता यात्रा से दो दिन पहले हुआ है। गुरुवार को ओवैसी बंगाल आ रहे हैं और मुस्लिम बहुल मटिबुर्ज इलाके में सभा के साथ पदयात्र भी करेंगे।

 आइएसएफ के प्रमुख पीरजादा अब्बास सिद्दीकी ने धर्मतल्ला में एक जनसभा को संबोधित किया और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। सिद्दीकी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस सरकार हो या केंद्र में भाजपा सरकार। दोनों ने ही देश की आम जनता के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तो अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का वोट के लिए सिर्फ इस्तेमाल किया है। अल्पसंख्यकों के विकास के लिए इस सरकार ने अब तक कोई काम नहीं किया।

 केंद्र की नीतियां भी आम जनता के लिए नहीं हैं। केंद्र की नीतियां पूंजीपतियों के भले के लिए हैं। उन्होंने ममता सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। उल्लेखनीय है कि फुरफुरा शरीफ को ममता सरकार का करीबी माना जाता था। परंतु, ओवैसी ने अपने पिछले बंगाल दौरे में अब्बास को साध लिया और कहा कि उनकी पार्टी वही करेगी, जो पीरजादा कहेंगे। लेकिन बाद में अब्बास सिद्दीकी ने अपनी नई पार्टी इंडियन सेकुलर फ्रंट बना ली। अब्बास ने कांग्रेस और वाममोर्चा के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की तैयारी में है और सीट बंटवारे को लेकर कई दौर की बैठकें भी हो चुकी है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप