अलीगढ़, जेएनएन। डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के लिए खरीदे गए आटो टिपर उन गली-मोहल्लों में भी दौड़ते नजर आएंगे, जिनसे कर्मचारियों ने अब तक दूरी बनाए रखी थी। वाहन चालकों को प्रतिदिन उन इलाकों का ब्यौरा देना होता, जहां से कूड़ा उठाया गया। शिकायत होने पर कार्रवाई भी की जाएगी। 

यह है योजना

नगर निगम ने संपत्ति कर से यूजर चार्ज भले ही हटा दिया हो, लेकिन यूजर चार्ज का भुगतान करना ही होगा। इसका बिल अलग से दिया जाएगा। दरअसल, कई लोगों की शिकायत थी कि डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के लिए उनके क्षेत्र में आटो टिपर वाहन नहीं आते। गली-मोहल्लों को छोड़कर मुख्य मार्गों से ही कुड़ा उठाकर चले जाते हैं। इसके चलते लोगों ने यूजर चार्ज देना बंद कर दिया था। कूड़ा कलेक्शन के लिए अधिकृत एटूजेड कंपनी को यूजर चार्ज न मिलने से नुकसान होने लगा। तब पिछले साल संपत्ति कर में यूजर चार्ज शामिल किया था, जिसे अब हटा दिया गया है। नगर निगम अधिकारियों ने दावा किया है कि डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की सुविधा को प्रभावी किया जाएगा। हर घर से कूड़ा उठाया जाएगा। इसकी समय-समय पर समीक्षा भी होगी। वार्ड स्तर पर शिकायतें सुनी जाएंगी। कूड़ा न उठाने की शिकायत पर एटूजेड कंपनी को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 50 नए आटो टिपर भी खरीदे गए थे। नगर निगम के बेड़े में कुल 107 आटो टिपर हैं। जिनके जरिए गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग लिया जाता है। नगर आयुक्त प्रेम रंजन सिंह ने इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि शहर के प्रत्येक हिस्से में आटो टिपर जाएंगे। घरों से कूड़ा उठाने की व्यवस्था में किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप