बरेली , जेएनएन : नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश के बाद शहर में धूल को नियंत्रित करने के लिए नगर निगम ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। निगम जल्द ही दो एंटी स्मॉग गन खरीदने जा रहा है। यह गन वातावरण में प्रदूषण बढ़ाने वाली धूल का खात्मा करेगी। इससे सड़कों पर ठीक से पानी का छिड़काव हो सकेगा। लोगों को राहत मिलेगी।

शहरों में धड़ल्ले से हो रहे विकास कार्य वायु प्रदूषण का बड़ा कारण हैं। निर्माण के दौरान मिट्टी की खोदाई से उड़ती धूल प्रदूषण स्तर बढ़ा रही है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी भी नगर निगम को पत्र लिखकर डस्ट नियंत्रित करने को कह चुके हैं। शहर की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने, सड़कों की सफाई और पानी का छिड़काव करने को कहा था। इसके बाद निगम ने टैंकर से शहर में पानी का छिड़काव शुरू किया। हालांकि इससे पानी की काफी बर्बादी होती है। इसे देखते हुए ही नगर निगम एंटी स्मॉग गन खरीद रहा है। इस गन से निकलने वाली पानी की महीन धार जहां धूल उड़ने से रोकेगी वहीं हवा में घुली धूल भी नीचे आ जाएगी। इससे कम पानी में बड़े क्षेत्र में छिड़काव किया जा सकेगा। फिलहाल, नगर निगम ने इस दिशा में काम शुरू कर दिया है।

--------------

वर्जन

दो एंटी स्मॉग गन खरीदने के लिए टेंडर प्रक्रिया चल रही है। जल्द ही गन खरीद ली जाएंगी। निगम के जहां भी काम होंगे, वहां डस्ट नियंत्रण के लिए एंटी स्मॉग गन से पानी छिड़काव किया जाएगा। इससे प्रदूषण पर अंकुश लगेगा।

-संजीव प्रधान, पर्यावरण अभियंता

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस