पटना। जल्द ही बिहार के सभी 38 जिले राजधानी पटना से जुड़ जाएंगे। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने राज्य के सभी 38 जिलों को 70 नई बसों से जोड़ने की योजना को अंतिम रूप दे दिया है। इसकी परमिट बनाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। नई बसों से भूटान जाना आसान हो जाएगा। मोतिहारी से पश्चिम बंगाल की अंतिम सीमा जयगांव तक बसें जाएंगी। वहां से भूटान काफी नजदीक है। पटना से काठमांडू, जनकपुर, वाराणसी व बक्सर से गाजियाबाद के लिए बसों का परिचालन होगा।

बस की पहली खेप गुरुवार को पटना पहुंच गई। इस खेप में 22 बसें आई हैं। एक सप्ताह में सभी 70 बसों के आ जाने की संभावना है। इसमें 15 बसें वातानुकूलित हैं। केंद्रीय कर्मशाला फुलवारीशरीफ और निगम मुख्यालय सुलतान पैलेस में बसों को रखा जा रहा है। इन बसों से पटना से राज्य के सभी 38 जिले जुड़ जाएंगे। पटना की सड़कों पर दौड़ेंगी 25 इलेक्ट्रिक बसें :

पटना की सड़कों पर 25 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ लगाने जा रही है। दो बसें शुक्रवार की सुबह तक पटना पहुंच जाएंगी। पटना की सड़कों पर ये बसें चलेंगी। बढ़ते प्रदूषण में कमी लाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की घोषणा के बाद यह पहल की गई है। पहली बार इलेक्ट्रिक बसें पटना की सड़कों पर चलेंगी। सिटी बस सर्विस में 113 बसें चल रही है। इसमें से 20 बसों को सीएनजी में कंवर्ट कर दिया गया है। फुलवारीशरीफ केंद्रीय कर्मशाला में बना चार्जिग स्टेशन---

इलेक्ट्रिक बसों को चार्ज करने के लिए फुलवारीशरीफ स्थित केंद्रीय कर्मशाला में बनकर तैयार हो गया है। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के प्रशासक श्याम किशोर गुरुवार को केंद्रीय कर्मशाला में बने चार्जिग स्टेशन का निरीक्षण किया। -------------

बहुत जल्द 70 बसें राज्य के सभी 38 जिलों को एक सूत्र में बांध देंगी। पटना की सड़कों पर प्रदूषण में कमी लाने के लिए 25 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ने लगेंगी। परमिट बनवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इससे भूटान, काठमांडू, जनकपुर व वाराणसी जाना आसान हो जाएगा।

-श्याम किशोर, प्रशासक, बिहार राज्य पथ परिवहन निगम

------------

-राजधानी से जल्द चलने लगेंगी 70 नई बसें, पहली खेप में 22 बसें पहुंचीं

-भूटान जाना होगा आसान, मोतिहारी से भूटान सीमा जयगांव तक जाएंगी बसें

-आज पहुंचेंगी 25 में दो इलेक्ट्रिक बसें, जनकपुर, काठमांडू व वाराणसी भी जाएंगी बसें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021