कानपुर, जेएनएन। उजियारीपुरवा में राजकुमार और उसके साथी रवि की हत्या के पीछे रकम के लेनदेन को लेकर हुआ झगड़ा और भूमि विवाद की बात सामने आ रही है। वहीं हत्याकांड में जेल गए आरोपित जिला पंचायत सदस्य दीपू निषाद की पुलिस और नेताओं से दोस्ती थी। उनका दीपू के घर आना जाना होता था। दीपू ने एक पूर्व थाना प्रभारी को पास के गांव में प्लॉट भी दिलाया था। अब पुलिस आरोपितों के खातों की पड़ताल करने के साथ दस्तावेज जुटाने की कोशिश कर रही है।

गंगा बैराज के आसपास करा रहा था प्लॉटिंग

दीपू निषाद गंगा बैराज के आसपास प्लॉटिंग करा रहा था। कुछ वर्ष पूर्व विवाद होने पर थाना प्रभारी ने दीपू निषाद को थाने बुलाया तो उसने थाना प्रभारी को प्लॉट दिलाने का ऑफर दिया था। इसके बाद काफी कम कीमत पर प्लॉट दिलाया। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं उस प्लॉट की खरीद फरोख्त में कोई धांधली तो नहीं हुई? इसी तरह कटरी की जिस भूमि पर दीपू निषाद प्लॉटिंगकर रहा था, उनके भी दस्तावेज निकलवाए जा रहे हैं। इलाके के एक शख्स ने बताया कि दीपू ने उसे भी प्लॉट दिलाने का झांसा दिया था। दीपू को एडवांस रकम देने ही वाले थे कि उजियारीपुरवा में वारदात हो गई।

जमीन की खरीद फरोख्त में भी हुआ था विवाद

पुलिस की जांच में पता लगा है कि बिठूर में दर्ज हुए एक मुकदमे में राजकुमार व रवि के साथ ही आरोपित पक्ष के विकास व आकाश भी आरोपित थे। उस मामले में पैरवी के लिए दोनों पक्षों की ओर से कुछ रकम जुटाई गई थी। इस रकम को लेकर बाद में दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया था, तब जिला पंचायत सदस्य दीपू निषाद ने राजकुमार व रवि को धमकाया था। यही नहीं, दो माह पूर्व कटरी की एक भूमि की खरीद फरोख्त के मामले में भी राजकुमार पक्ष और दीपू निषाद के बीच नोकझोंक हुई थी। नवाबगंज थाना प्रभारी रमाकांत पचौरी ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच पहले से रंजिश चली आ रही है। बिठूर में हुई एक घटना में राजकुमार, रवि के साथ ही हत्यारोपित आकाश व विकास समेत छह लोग नामजद थे। इसके बाद से ही आकाश व विकास का राजकुमार से झगड़ा हुआ था। पुराने मामलों की पड़ताल की जा रही है।

फर्म मालिक से बाइक लेकर भागे दो आरोपित, तलाश जारी

फरार आरोपित विशाल पी रोड की एक कपड़ा फर्म में नौकरी करता था। वारदात के बाद विशाल अपने भाई शुभम उर्फ शिवम के साथ मकड़ीखेड़ा निवासी फर्म मालिक के घर पहुंचा और इमरजेंसी बताकर उनकी बाइक ले गया था। पुलिस ने फर्म मालिक से पूछताछ की तो इस बात का पता लगा। थाना प्रभारी ने बताया कि फर्म मालिक से पूछताछ के बाद बाइक का नंबर आसपास के जिलों को भेजा गया है, ताकि आरोपितों को पकड़ा जा सके।

मुचलके से पाबंद किए जाएंगे दोनों पक्षों के लोग

दोहरे हत्याकांड के बाद पुलिस गांव में दोनों पक्षों के एक दर्जन से ज्यादा लोगों को दो लाख से पांच लाख रुपये तक के मुचलके से पाबंद करने की तैयारी कर रही है। भविष्य में अगर दोनों पक्षों में कोई झगड़ा हुआ तो मुचलके की राशि आरोपितों से वसूल की जाएगी। थाना प्रभारी ने बताया कि गांव में फोर्स तैनात है। जनजीवन सामान्य होने के बाद ही फोर्स हटाई जाएगी। हालांकि मंगलवार को गांव में कुछ दुकानें खुलीं और रोजमर्रा की तरह लोग घरों से काम पर गए।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप