आशुतोष मिश्रा, गाजियाबाद

प्रदेश की सीमा में दूसरे चरण में अर्थला तक आने वाली मेट्रो से पहले लोनी सीमा में मेट्रो का आगमन होने वाला है। दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (डीएमआरसी) ने लोनी क्षेत्र में दो स्टेशन बनाने के लिए प्रदेश शासन से सैद्धांतिक सहमति के लिए पत्र लिखा है। करीब तीन किलोमीटर लंबी लाइन के लिए करीब चार सौ करोड़ रुपए का खर्च आएगा। मेट्रो तीसरे चरण के विस्तार के लिए पहले से ही काम कर रही है। यमुना विहार तक आने वाली इस लाइन में लोनी सीमा में दो स्टेशन पड़ेंगे। इसका खर्च डीएमआरसी खुद वहन करेगी।

उल्लेखनीय है कि आनंद विहार से वैशाली तक मेट्रो के पहुंचने के बाद दिलशाद गार्डन से अर्थला रूट के लिए जीडीए और प्रदेश सरकार कवायद कर रही है, लेकिन इसमें फंडिग को लेकर सहमति न बनने के कारण डीएमआरसी ने इस दिशा में आगे कदम नहीं बढ़ाया है। जबकि दूसरी ओर दिल्ली में मेट्रो के तीसरे चरण का काम तेजी से चल रहा है। तीसरे चरण में मुकंदपुर से यमुना विहार तक का रूट प्रस्तावित है। यह रूट वाया गोकुलपुरी होते हुए यमुना विहार पहुंचेगी, लेकिन इस बीच रूट में लोनी का एक बड़ा क्षेत्र पड़ेगा। चूंकि लोनी यूपी की सीमा में आता है इसलिए बिना यूपी सरकार की अनुमति से इस प्रोजेक्ट को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है। नए रूट में डीएमआरसी ने लोनी के क्षेत्र में जोहरी एंक्लेव और शिवविहार स्टेशन पड़ेंगे। करीब तीन किमी लंबी इस लाइन पर चार करोड़ का खर्च आएगा। इसके लिए प्रदेश सरकार से सैद्धांतिक सहमति के लिए जीडीए उपाध्यक्ष को डीएमआरसी ने पत्र लिखा है। जीडीए उपाध्यक्ष नरेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि इस पत्र को शासन को भेजा जाएगा।

दो स्टेशन से मिलेगा तीन लाख आबादी को लाभ

लोनी क्षेत्र में पड़ने वाले दो स्टेशनों से करीब तीन लाख लोगों को लाभ होगा। यही नहीं, जनपद की तीन सीमाओं में यह दूसरी ऐसी सीमा होगी जहां मेट्रो का प्रवेश होगा। इसके पूर्व दिलशाद गार्डन से अर्थला तक मेट्रो लाने का प्रस्ताव है लेकिन इससे पहले ही लोनी में मेट्रो पहुंच जाएगी। इसमें प्रदेश सरकार को पैसा खर्च नहीं करना है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप