सुलतानपुर : पंचायत चुनाव के मद्देनजर तैयारियों को अंतिम रूप देने पर तेजी से कम चल रहा है। मतदान के लिए प्रयुक्त होने वाले मतपत्रों को दिल्ली से लाने के लिए जिले की टीम गुरुवार को रवाना कर दी गई है। आरक्षित वाहन से शनिवार को 74 लाख 72 हजार आठ सौ मतपत्र लेकर जिम्मेदार यहां पहुंच जाएंगे। मतपत्रों को स्ट्रांग रूम में सीसी कैमरे और कड़ी सुरक्षा में रखा जाएगा।

शासन के निर्देश पर चुनाव में प्रयोग होने वाले मतपत्रों को छापने की जिम्मेदारी दिल्ली की एक निजी कंपनी को सौंपी गई है। सहायक निर्वाचन अधिकारी कमलेश कुमार वाजपेयी ने बताया कि संक्रमण की आशंका को देखते हुए मतपत्र प्रभारी व बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी अशोक सिंह के नेतृत्व में दिल्ली जाने वाली टीम के सदस्यों की कोरोना जांच कराई गई। रिपोर्ट निगेटिव आने पर सभी को दिल्ली रवाना किया गया। मतदान के दिन ही स्ट्रांग रूम से निकालकर मतपत्रों बूथों पर पहुंचाया जाएगा। चार रंगों में होगा मतपत्र :

पंचायत चुनाव में चारों पदों के लिए अलग-अलग रंगों के मतदान पत्रों का प्रयोग किया जाएगा। ग्राम पंचायत सदस्य का मतपत्र सफेद व प्रधान चुनने के लिए मतदाताओं को हरे रंग का मतपत्र दिया जाएगा। क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए नीला और जिला पंचायत सदस्य पद के लिए इस बार गुलाबी रंग का मतपत्र प्रयोग में लाया जाएगा। इनका रंग अलग-अलग होने से मतदाताओं में भ्रम की स्थिति नहीं रहेगी। साथ यह भी तय हो सकेगा कि मतदाता को चारों पदों के लिए मताधिकार का प्रयोग करना है। वहीं, 2010 के बाद ग्राम पंचायत चुनाव में चारों पदों के लिए एक साथ मतदान होगा। अंतिम प्रकाशन 22 को :

पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची में संशोधन, नाम बढ़ाने व घटाने की प्रक्रिया बीते दो माह से चल रही है। सारी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद प्रशासन ने इसके अंतिम प्रकाशन की तारीख 22 जनवरी निर्धारित की है। इसके बाद अपरिहार्य स्थितियों में ही मतदाता सूची में संशोधन किया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021