मेरठ, जेएनएन। पहले से घोषित कार्यक्रम के मुताबिक मंगलवार को बड़ी संख्या में अधिवक्ता नानकचंद सभागार में आयोजित आम सभा में पहुंचे। इसके बाद वहा से मौन जुलूस के रूप में एडीजी कार्यालय के लिए निकले। शाति से अधिवक्ताओं का मौन जुलूस एडीजी कार्यालय पहुंचा।

एडीजी कार्यालय के दोनों गेटों पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात थी। शहर सíकल के सभी थानेदार और सीओ के साथ एसपी सिटी भी मौजूद थे। पुलिस ने अधिवक्ताओं को गेट पर ही रोक दिया। गेट पर रोके जाने के बाद सभी अधिवक्ता एडीजी कार्यालय के सामने सड़क पर ही शाति से बैठ गए। इसके बाद पुलिस ने तय किया कि अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधिमंडल एडीजी से मिलने जाएगा। इसके बाद मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महावीर त्यागी, महामंत्री सचिन चौधरी और वरिष्ठ अधिवक्ता डा. ओपी सिंह समेत सात अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधिमंडल एडीजी से मिलने अंदर पहुंचा। उन्होंने एडीजी को ज्ञापन सौंपकर अधिवक्ता ओमकार तोमर आत्महत्या प्रकरण में आरोपितों की गिरफ्तारी की माग की। उनका कहना था कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए अधिवक्ता लगातार आदोलनरत हैं, इसके बाद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही। अधिवक्ताओं ने एसएसपी के आफिस में नहीं बैठने पर भी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने चेतावनी दी कि आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो आदोलन जारी रहेगा। एडीजी राजीव सभरवाल ने अधिवक्ताओं को भरोसा दिया कि शाम तक उन्हें रिजल्ट दिया जाएगा। इसके बाद अधिवक्ता एडीजी आफिस से लौटकर कलक्ट्रेट में जारी क्रमिक अनशन पर बैठ गए।

रजिस्ट्री कार्यालय पर जड़ा ताला, हंगामा

अधिवक्ता ओमकार तोमर आत्महत्या प्रकरण को लेकर वकील कलक्ट्रेट में क्रमिक अनशन पर बैठे हैं। रजिस्ट्री का कार्य रोकने के लिए विशेष दस्ते का गठन किया गया है। इसके चलते कलक्ट्रेट कार्यालय में मौजूद रजिस्ट्री कार्यालय में दिनभर ताला लटका रहा। उधर, शाम करीब पाच बजे मेरठ विकास प्राधिकरण कार्यालय स्थिति रजिस्ट्री कार्यालय में रजिस्ट्री होने की सूचना पर हंगामा हो गया। कार्यालय पहुंचे अधिवक्ताओं ने रजिस्ट्री कार्यालय के बाहर विरोध शुरू कर दिया। उधर, कार्यालय के अंदर बंद हुए कुछ वकीलों ने बार के पदाधिकारी को मौके पर बुलाया, और कार्यालय कíमयों ने एडीएम सिटी को फोन से जानकारी दी। इसके बाद एडीएम सिटी अजय कुमार तिवारी, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महावीर त्यागी, महामंत्री सचिन चौधरी आदि मौके पर पहुंचे और ताला खुलवाया। हालाकि इस दौरान घबराए लोगों ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया था। बाद में एडीएम के कहने पर दरवाजा खोला गया। रजिस्ट्री कराने के चक्कर में अंदर बंद हुए अधिवक्ताओं से भी विरोध जताया गया। बाद में एडीएम और बार के पदाधिकारियों ने मामले को शात कराया, साथ ही रजिस्ट्री कार्य भी बंद कर दिया गया।

शात हो गया मामला

ताला लगाए जाने की सूचना पर रजिस्ट्री कार्यालय गए थे, लेकिन वहा ताला नहीं लगा था। कर्मचारियों ने जरूर कार्यालय का दरवाजा अंदर से बंद कर रखा था। अधिवक्ताओं को समझाकर मामला शात कर दिया गया।

- अजय कुमार तिवारी, एडीएम सिटी

गिरफ्तारी के लिए एडीजी से मिलेंगे : ओमवीर

संजय मोतला के भाई ओमवीर ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है। इसके लिए एडीजी राजीव सभरवाल से मिलेंगे। गुर्जर समाज के लोगों के साथ एडीजी से मिलने का समय लिया जा रहा है। अधिवक्ता के बेटे को यदि पुलिस जल्द ही नहीं पकड़ेगी तो गुर्जर समाज भी आदोलन करेगा।

हम कार्रवाई कर रहे हैं

पुलिस ने अधिवक्ता आत्महत्या प्रकरण में वारंट जारी कराने के बाद तीन आरोपितों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित कर दिया है। उनकी गिरफ्तारी को लेकर दबिश डाली जा रही है। एक पक्ष की तरफ से गिरफ्तारी के बाद दूसरे पक्ष की भी गिरफ्तारी की जाएगी।

- अजय साहनी, एसएसपी

अधिवक्ता की सदस्यता समाप्त

मेरठ बार एसोसिएशन के प्रस्ताव का उल्लंघन करने पर अधिवक्ता शहादत की बार सदस्यता को समाप्त कर दिया गया है। बार के महामंत्री सचिन चौधरी ने बताया कि प्रस्ताव पारित होने के बाद भी अधिवक्ता एसीजेएम पाच की अदालत में जमानती कागजात प्रस्तुत करने पहुंचे थे। बाद में बार ने जाच के बाद उनकी सदस्यता समाप्ति का निर्णय लिया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप