संस, हाथरस : बेसिक शिक्षा विभाग के जर्जर स्कूलों को अब नीलाम किया जा रहा है। सहपऊ ब्लाक के करीब पंद्रह विद्यालयों की सोमवार को नीलामी की जाएगी।

जर्जर भवनों की तकनीकी जांच एवं मूल्यांकन की कवायद अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग से कराई गई थी। इसमें विकास खंड सहपऊ के 15 विद्यालय भवन जर्जर बताए गए। शासन के निर्देश पर तीन सितंबर को जिलाधिकारी से निरस्तीकरण के लिए अनुमोदन ले लिया गया। समिति का गठन किया जा चुका है, जिसमें बीईओ अध्यक्ष, सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी सदस्य, सहायक विकास अधिकारी, पंचायत सदस्य को भवनों के निरस्तीकरण के लिए नियुक्त किया गया। जर्जर विद्यालयों की नीलामी की कवायद सोमवार को बीआरसी केंद्र सहपऊ पर होगी।

इन विद्यालयों की होगी नीलामी

प्राथमिक विद्यालय बुर्जनोजी, मीरपुरा, धाधऊ, नगला मनी, फत्तलापुर, मढ़ाका द्वितीय, बढ़ार, धनौली, मागरू, नगला दली, रसीदपुर, समदपुर, गढ़ी रुस्तम के अलावा पूर्व माध्यमिक विद्यालय कोकना कला और पूर्व माध्यमिक विद्यालय हसनपुर बारू जर्जर भवनों की नीलामी की जानी है। शिक्षकों को मिलेगा प्रशिक्षण, होंगे पारंगत

संस, हाथरस : बेसिक शिक्षा विभाग में तैनात नवनियुक्त शिक्षकों को जल्द ही जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान पर प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। शासन ने पिछले दिनों प्रदेश में सहायक अध्यापक भर्ती के तहत नव नियुक्त शिक्षकों को तैनाती दिलाई थी। काउंसिलिग के जरिए हाथरस जिले के प्राथमिक विद्यालयों में 165 शिक्षकों को तैनाती मिली थी। एकल और बंद विद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती होनी थी, लेकिन शासन स्तर से स्कूल आवंटित होने के कारण इस बार बंद व एकल विद्यालय पूर्ण रूप से नहीं खुल पाए। बेसिक स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने के तरीकों के बारे में अब नव नियुक्त शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए 25-25 नवनियुक्त शिक्षकों का बैच बनाया जाएगा। जिनको मास्टर ट्रेनरों के जरिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। जल्द ही प्रशिक्षण की तिथि उच्च अधिकारियों द्वारा जारी की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस