हरारे। जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड (जेडसीबी) इन दिनों गहरे वित्तीय संकट से गुजर रहा है। इस पर 1.8 करोड़ डॉलर का कर्ज है और हाल के दिनों में इसने अपने खिलाड़ियों को किसी तरह का भुगतान नहीं किया है। बोर्ड ने हालांकि किसी तरह के संकट से इन्कार किया है।

बोर्ड ने कहा है कि उसकी स्थिति बहुत अच्छी है। साथ ही साथ उसने खिलाड़ियों को भुगतान नहीं किए जाने की खबरों का भी खंडन किया है। जेडसीबी पर छाया यह संकट तीन महीने पुराना है। तीन महीने पहले बोर्ड ने अपने यहां एक त्रिकोणीय ट्वेंटी-20 श्रृंखला का आयोजन कराया था। इसी श्रृंखला के दौरान खिलाड़ियों ने सरकार से भुगतान को लेकर हस्तक्षेप करने की गुजारिश की थी। यही नहीं, त्रिकोणीय श्रृंखला के दौरान जिम्बाब्वे बोर्ड ने दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश की टीमों को अपनी हर व्यवस्था खुद करने को कहा था। साथ ही साथ उनसे इन टीमों को यात्रा संबंधी खर्च भी खुद ही वहन करने को कहा था।

खिलाड़ियों ने जब अपने भुगतान की मांग की थी जब उन्हे कथित तौर पर धमकाया गया था और कहा गया था कि इसके लिए उन्हे टीम से बाहर किया जा सकता है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस