लंदन। गर्बाइन मुगुरुजा ने पोलैंड की एगनिएस्का रदवांस्का को 6-2, 3-6, 6-3 से हराकर 19 सालों में विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाने वाली पहली स्पेनिश महिला खिलाड़ी बनीं। इससे पहले स्पेन की अरांता सांचेज विकारियो ने ऑल इंग्लैंड क्लब में खिताबी जंग में जगह बनाई थी, जबकि 1994 में कोंचिता मार्टिनेज यहां खिताब जीतने वाली आखिरी स्पेनिश महिला टेनिस खिलाड़ी थीं।

पहली बार ग्र्रैंड स्लैम के फाइनल में जगह बनाने से पहले मुगुरुजा ने रदवांस्का के चार विनर्स के मुकाबले 12 विनर्स लगाकर आसानी से पहला सेट अपने नाम किया। दूसरे सेट में उन्हें तीन बार की सेमीफाइनलिस्ट खिलाड़ी के खिलाफ नर्वस होते देखा गया। 3-1 की बढ़त बनाने के बाद अचानक वह अपनी लय खो बैठीं और कई गलतियां करते हुए सेट गंवा दिया। लेकिन तीसरे और निर्णायक सेट में मुगुरुजा ने वापसी की और अपने दमदार फोरहैंड शॉट और कुल 39वें विनर के साथ मैच अपने नाम कर लिया।

अभी तक केवल एक टूर खिताब जीतने वालीं 20वीं वरीय मुगुरुजा ने जीत के बाद कहा, 'अपनी खुशी बयां करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। यह कड़ा मुकाबला था। रदवांस्का के पास बहुत अनुभव था, लेकिन मैं लड़ाई जारी रखना चाहती थी। मुगुरुजा ने बताया कि अब उनका परिवार शनिवार को होने वाले फाइनल में कोर्ट में मौजूद रहेगा। फाइनल में मुगुरुजा की टक्कर सेरेना विलियम्स या मारिया शारापोवा से होगी। शारापोवा के खिलाफ अभी तक खेले तीन मुकाबलों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है, जबकि सेरेना के खिलाफ जीत-हार का रिकॉर्ड 1-2 है। मुगुरुजा ने दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी को पिछले साल फ्रेंच ओपन में हराया था। फाइनल तक के सफर में मुगुरुजा ने पांचवीं वरीय डेनमार्क की कैरोलिन वोजनियाकी और 10वीं वरीय जर्मन खिलाड़ी एंजलिक कर्बर को भी हराया।

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021