बेंगलूर। भारत के स्टार टेनिस खिलाड़ी सोमदेव देववर्मन और युकी भांबरी को डेविस कप विश्व ग्रु्रप प्लेऑफ मुकाबलों के पहले दिन शुक्रवार को अपने-अपने सिंगल्स मुकाबलों में सर्बियाई खिलाडिय़ों के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही 2010 में डेविस कप जीत चुकी और 2013 की उपविजेता रही मजबूत सर्बियाई टीम ने 2-0 की बढ़त बना ली।

भारत के लिए पहला मैच खेलने उतरे युकी को मौजूदा सत्र में काफी मैच खेलने का मौका नहीं मिला और उनके सामने ऐसे खिलाड़ी को हराने की कड़ी चुनौती थी जो शानदार फॉर्म में चल रहा है और इस साल फ्रेंच ओपन के प्री क्वार्टर फाइनल में भी जगह बनाने में सफल रहा। विश्व के 153वें वरीय खिलाड़ी युकी को दो घंटे चार मिनट तक चले मुकाबले में 61वें वरीय दुसान लाजोविक के हाथों 3-6, 2-6, 5-7 से हार मिली। तीसरे सेट में एक समय युकी 4-1 की बढ़त बनाए हुए थे और ऐसा लग रहा था कि वह मुकाबले में वापसी करने में सफल रहेंगे, लेकिन अपना चौथा डेविस कप मैच खेल रहे लाजोविक ने युकी के खेल में निरंतरता की कमी का फायदा उठाकर सेट और मैच अपने नाम किया।

भारत को वापसी दिलाने का दारोमदार इसके बाद सोमदेव पर था, लेकिन वह फिलिप क्राजिनोविक को कड़ी टक्कर देने के बावजूद दो घंटे और 23 मिनट चले मुकाबले में 1-6, 6-4, 3-6, 2-6 से हार गए. क्राजिनोविक की एटीपी रैंकिंग सोमदेव से 37 स्थान बेहतर 107वें स्थान पर काबिज हैं। सोमदेव बेसलाइन पर अपने मजबूत डिफेंस का फायदा नहीं उठा पाए क्योंकि विरोधी खिलाड़ी ने अपने तेज खेल से उन्हें अधिक मौके नहीं दिए। सोमदेव विरोधी को बेसलाइन पर धकेलना पसंद करते हैं, लेकिन आज उन्होंने लगातार छोटे शॉट खेले जिनका सामना करने में सर्बियाई खिलाड़ी को कोई परेशानी नहीं हुई। भारत की नजरें अब शनिवार को डबल्स मुकाबले पर टिकी हैं जहां अनुभवी लिएंडर पेस और रोहन बोपन्ना को नेनाद जिमोनजिक और इलिजा बोजोल्जिक के खिलाफ हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें