इपोह (मलेशिया) । अगले साल नीदरलैंड्स में होने वाले हॉकी विश्व कप में पहुंचने की अंतिम उम्मीद एशिया कप का आगाज भारतीय टीम जीत के साथ करना चाहेगी। शनिवार को उसका पहला मुकाबला ओमान से होगा।

टूर्नामेंट से पहले कुछ प्रमुख खिलाड़ियों के चोटिल होने से भारत की परेशानियां बढ़ीं हैं। सरदारा सिंह की अगुआई में भारत को इस अहम टूर्नामेंट में युवा टीम उतारनी पड़ी है। फॉरवर्ड पंक्ति में अनुभवी दानिश मुज्तबा, एसवी सुनील, गुरविंदर सिंह चांडी और आकाशदीप सिंह की कमी खलेगी। यह सभी चोट के कारण टीम से बाहर हैं। रमनदीप सिंह और निकिन थिमैया का यह पहला टूर्नामेंट होगा। नितिन थिमैया, मनदीप सिंह, मालक सिंह के पास भी ज्यादा अनुभव नहीं है। सरदारा की उपस्थिति में भारतीय मिडफील्ड के पास काफी अनुभव है और यही जीत की कुंजी साबित होगी। कमजोर रक्षा पंक्ति लंबे समय से टीम की समस्या रही है। अब देखना होगा कि वी आर रघुनाथ, रुपिंदर पाल सिंह, अमित रोहिदास, कोथाजीत सिंह, बीरेंद्र लाकड़ा और गुरमेल सिंह इन हालातों का सामना कैसे करते हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर