अनिल भारद्वाज, गुड़गांव। मुक्केबाज पिंकी जांगड़ा का रियो ओलिंपिक जाने का सपना एमसी मैरी कॉम के पंच से चकनाचूर हो गया। मंगलवार को दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में विश्व चैंपियनशिप के लिए हुए ट्रायल में पांच बार की विश्व चैंपियन मैरीकॉम ने पिंकी को हरा दिया। पिंकी के पास यही एक आखिरी मौका था, जो हाथ से निकल गया।

दोनों का मुकाबला देखने के लिए बड़ी संख्या में मुक्केबाजी जगत के लोग जुटे थे। ट्रायल का यह सबसे रोमांचक मुकाबला रहा। लेकिन 51 किग्रा के इस मुकाबले में आखिरकार लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम जीत दर्ज करने में कामयाब रहीं। कजाकिस्तान के अस्ताना में खेले जाने वाले ओलिंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में मैरी व अन्य भारतीय मुक्केबाजों के पास रियो का टिकट पक्का करने के लिए आखिरी मौका होगा। भारतीय टीम अगले महीने 17 मई को अस्ताना रवाना होगी। हालांकि भारतीय चयनकर्ताओं की तरफ से अभी भारतीय टीम की घोषणा नहीं की गई है, लेकिन सूत्रों के अनुसार टीम में मैरी कॉम के अलावा सरजू बाला (48 किग्रा), निशीत जरीन (54 किग्रा), सरिता (57 किग्रा), सोनिया लाठर (60 किग्रा), मीना कुमारी (64 किग्रा), पवित्रा (66 किग्रा), पूजा (75 किग्रा), स्वीटी बूरा (81 किग्रा) और सीमा (प्लस 81 किग्रा) के चुने जाने की उम्मीद है।

Edited By: Sachin Bajpai