अमृत महोत्सव पर लखनऊ में लांच हुआ खास खुशबू वाला इत्र

जागरण संवाददाता, कन्नौज: इत्र नगरी के नाम एक और अध्याय जुड गया है। आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर लखनऊ में नौ खास खुशबू वाले इत्र को लांच किया गया। इन इत्र को देश के विभिन्न हिस्सों से खुशबुओं को एकत्र कर तैयार किया गया है, जो पूरे विश्व में कन्नौज को पहचान देगा। इस विशेष इत्र में कश्मीर से लेकर कन्या कुमारी तक की महक लोगों को रोमांचित करेगी।

सोमवार को आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर अपर मुख्य सचिव एमएसएमई और निर्यात प्रोत्साहन नवनीत सहगल ने लोक भवन लखनऊ से कन्नौज के “एक जनपद-एक उत्पाद“ योजना के तहत इत्र के तिरंगा अतर, अतर मेरी मिट्टी-75, यूडी-75, हिंद शमामा, वंदेमातरम मोतिया, सेंटेट ट्राई कलर टेराजो, अतर गंगा, आजादी-75, ट्राईकलर अगरबत्ती समेत कुल नौ खास खुशबू वाले इत्र की लांचिंग की। उपायुक्त उद्योग धनंजय सिंह ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मेसर्स गौरी सुगंध प्राइवेट लिमिटेड ने तिरंगा अतर बनाया। जो गुलाब, मिट्टी, बेला के पुष्पों की खुशबू से बनाया गया। इसकी पैकिंग राष्ट्रीय ध्वज के रंगों में प्रदर्शित की गई। मेसर्स शक्ति संदल वुड ने अतर मेरी मिट्टी-75 बनाया। जो 75 किग्रा मिट्टी से पांरपरिक आसवन तकनीकी द्वारा बनाया गया है। यह मिट्टी की सौंधी खुशबू टैगलाइन के साथ भारत में पहली बार अपनी तरह का स्वदेशी उत्पाद है। यूडी- 75 जनपद कन्नौज का मार्डन और पहली बार अतर आधारित डियो सुगंध तैयार किया गया। मेसर्स कन्नौज अतर्स ने हिंद शमामा तैयार किया। इसमें देश भर से एकत्रित विभिन्न जड़ी-बूटियों और मसालों जैसे कश्मीर से केसर, दक्षिण से मसाले, उत्तर प्रदेश से गुलाब, उत्तर पूर्व से अगरवुड आदि शामिल है, से बनाया गया है। यह पूरे देश की सुगंध का प्रतिनिधित्व करता है। गौर इंरप्राइजेज ने वंदेमातरम अतर बनाया। यह अतर बेला तथा संदल के बेस पर बना हुआ अतर है। इंडियन नेचुरल्स ने सेंटेट ट्राई कलर टेराजो बनाया। यह उत्पाद विभिन्न तरह के पत्थर जैसे क्वार्टज, ग्रेनाइट, शीशा अथवा सेमी पत्थर आदि में कन्नौज में बने इत्र की खूशबू के समाहित कर बनाया गया है। सुगंध एवं सुरस विकास केंद्र ने आजादी-75 नाम से सुगंध तैयार की है। यह कश्मीर से लैंवेडर, यूपी से वेटियर, उत्तर पूर्व से पचौली, केरल से इलाइची, हिमाचल प्रदेश से देवदार ,ओड़िशा से केवड़ा और महाराष्ट्र से जेरेनियम से बना है। ऐसे इत्र को लखनऊ में लांच किया गया। उपायुक्त उद्योग ने बताया कि इसकी तैयारी पिछले दो-तीन माह से चल रही थी। आजादी पर्व में कुछ नया करने का विचार डीएम का था। जिसे कारोबारियों ने मूर्त रूप दिया। सुगंध एवं सुरस विकास केंद्र ने तकनीकी मदद की। अब यह खास तरह के इत्र की पूरी दुनिया में ब्रांडिंग होगी। इसे बाजार में उतारा जाएगा। ताकि लोग इत्र नगरी की नई खुशबू से रूबरू हो सकें।

Edited By: Jagran