जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : चाय श्रमिकों के हक का सरकारी राशन को रातों-रात दूसरे गोदाम में सिफ्ट करने के आरोप में प्रधान नगर थाना पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके नाम मुनु राय (32) और विशाल शाह (24) बताया गया है। दोनों को रविवार सिलीगुड़ी महकमा अदालत में पेश किया गया। जहां से उन्हें तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

ज्ञात हो कि बीते शनिवार तड़के मोहर गांव चाय बागान के श्रमिकों ने सरकारी राशन से लदी दो वाहनों को चालक समेत प्रधान नगर पुलिस के हवाले किया। श्रमिकों का आरोप है कि कम आवंटन होने का झांसा देकर डीलर उनके हक का राशन बेच कर अपनी जेब गरम कर रहा है। पछले लंबे समय से सरकारी मान-दंड के अनुसार श्रमिकों को राशन की सामग्री नहीं मिल रही है। कभी चावल कम तो कभी आंटा। इस बार भी आवंटन कम बताकर डीलर निर्धारित माप से कम राशन सामग्री वितरित किया। संदेह होने पर चाय श्रमिकों ने डीलर की रेकी की और गोदाम से सरकारी राशन रातों-रात सिफ्ट कर रही दो वाहन को पकड़ कर पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने वाहन समेत चालकों को हिरासत में लिया। इसके बाद श्रमिकों ने थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराया है। जिसके आधार पर पुलिस ने राशन सामग्री से लदी दोनों वाहनों को जब्त कर चालकों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों में शामिल मुनु माटीगाड़ा थाना अंतर्गत पाथरघाटा अंचल के धुकुड़िया जोत इलाके का निवासी है। वहीं दूसरा प्रधान नगर थाना क्षेत्र के सालबाड़ी इलाके का निवासी बताया गया है। पुलिस सूत्रों की माने तो दोनों वाहन चालक हैं।

मोहर गांव चाय बागान के श्रमिकों का आरोप है कि गिरफ्तार हुए दोनों तो प्यादे मात्र है। डीलर की अनुमति के बिना सरकारी राशन गोदाम से निकालकर रातों-रात सिफ्ट करना चालकों के बस का नहीं है। लेकिन इस मामले में पुलिस की जांच पर श्रमिक टकटकी लगाए हुए हैं।

Edited By: Jagran