भू-धंसाव से छह ग्रामीण सड़कें

पांच दिनों से बंद, लोग परेशान

संवाद सहयोगी, नई टिहरी: वर्षा के कारण दूरस्थ गांवों को जोड़ने वाले करीब आधा दर्जन मोटर मार्गों पर भू-धंसाव होने से मोटर मार्ग पिछले पांच दिनों से बंद पड़े हैं। इन मार्गों को खुलने में अभी और समय लग सकता है। ऐसे में ग्रामीणों को आवाजाही में खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। ग्रामीणों को सड़क मार्ग तक पहुंचने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ रही है। सड़कें बंद होने से ग्रामीणों की नकदी फसल समय पर मंडी तक नहीं पहुंचने से उन्हें नुकसान उठाना पड़ रहा है।

भिलंगना क्षेत्र के झाला-कोटी मार्ग पर किमी एक पर भू-धंसाव होने के कारण सड़क का काफी हिस्सा धंस गया है, जिससे यह मोटर मार्ग पांच दिनों से बाधित है। इस मार्ग के बाधित होने के कारण करीब आठ सौ की आबादी का आवागमन प्रभावित हो गया है। ग्रामीणों को करीब पांच किलोमीटर की पैदल दूरी नापनी पड़ रही है। पूर्व में भी यह मार्ग बूढ़ाकेदार के पास धंसने के कारण करीब 22 दिन तक बाधित रहा है। इस ब्लाक के घुत्तू-कंडार गांव मोटर मार्ग के घुत्तु कंडार गांव में पास धंस जाने से यह मार्ग भी पांच दिनों से बंद पड़ा है। इसी तरह, सीताकोट-भटगांव, भरवाकाटल-श्रीपुर, कैम्प्टी चडोगी व दुआधार गंवाणा मोटर मार्ग भूधंसाव के कारण बंद पड़े हैं, जिन्हें खुलने में अभी तक समय लगेगा। इन मार्गों के बंद होने से करीब तीन हजार की आबादी प्रभावित हुई है। वहीं, घुत्त-कंडारगांव भरवाकाटल-श्रीपुर, केम्प्टी-चडोगी ग्रामीण मोटर मार्ग बंद होने से ग्रामीणों को अपनी नकदी फसलों को मंडी तक पहुंचाने में भारी कठिनाई हो रही है, जिससे उन्हें नुकसान उठाना पड़ रहा है। इन दिनों क्षेत्र में आलू, टमाटर सहित अन्य फसलें तैयार हैं। कोटी गांव के दिनेश भट्ट और भटगांव के किशन सिंह का कहना है कि सड़कें बंद होने से ग्रामीणों को जरूरी चीजों की आपूर्ति में भी परेशानी हो रही है।

Edited By: Jagran