जागरण संवाददाता, गुरदासपुर : नाबालिग से दुष्कर्म करने के आरोपित की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विभिन्न सार्वजनिक संगठनों ने वीरवार को नेहरू पार्क में रैली करने के बाद थाना सिटी का घेराव किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने आरोपित की गिरफ्तारी की मांग की।

ज्ञात रहे कि 13 वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ पिस्तौल की नोक पर दुष्कर्म किया गया था। इसके बाद विभिन्न संगठनों के दबाव के बाद 25 जून को आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया। लेकिन दो माह बीत जाने के बाद भी पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया। पुलिस की ढीली कार्रवाई के कारण आरोपित पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकियां दे रहा है। थाने के करीब एक घंटे तक घेराव के बाद पुलिस के उच्च अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर प्रदर्शनकारियों को शांत करवाया और उन्हें आरोपित की जल्द गिरफ्तारी करने का आश्वासन दिया। इसके बाद धरना समाप्त कर दिया गया। इस दौरान पुलिस को एक सप्ताह का समय दिया गया है। यदि इसके बावजूद आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हुई तो संघर्ष तेज करने की घोषणा की गई है। धरने को संबोधित करते हुए विभिन्न नेताओं ने कहा कि 75 साल की आजादी की हालत यह बन चुकी है कि दुष्कर्म पीड़ितों को इंसाफ दिलाने के लिए लोगों को सड़कों पर उतरना पड़ रहा है। जिला पुलिस प्रशासन ने यह मामला बेहद असंवेदनशीलता से लिया है। पुलिस की ढीली कार्रवाई के कारण ही आरोपित सरेआम घूम रहा है। दो माह बीतने के बाद धरने के दवाब के कारण आरोपित के खिलाफ अब लुक आउट नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि आरोपित विभिन्न नंबरों से पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकियां दे रहा है। पुलिस की लापरवाही के कारण 12 जुलाई को आरोपित ने पीड़ित बच्ची को ही मार डालने की धमकी दी थी। आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया

उधर धरना स्थल पर पहुंच एसपी हेडक्वार्टर नवजोत सिंह ने आरोपित को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का विश्वास दिलाया। इसके बाद नेताओं ने एक सप्ताह का समय देते हुए कहा कि यदि आरोपित को काबू नहीं किया गया तो संघर्ष और तेज किया जाएगा। इस मौके पर स्त्री जागृति मंच की जिला कन्वीनर पलविदर कौर, नीरु बाला, आशा वर्कर यूनियन की जिला प्रधान पलविदर कौर, जिला सचिव गुरिदर कौर, पंजाब स्टूडेंट यूनियन के प्रदेश उप प्रधान अमरक्रांति, मनी भट्टी, इफ्टू के जोगिदर पाल घुराला, सुखदेव राज, इंडियन फेडरेशन आफ ट्रेड यूनियन के जोगिदर पाल पनियाड़, डीटीएफ के जिला प्रधान हरजिदर सिंह, गुरदियाल चंद, जम्हूरी अधिकार सभा प्रदेश कमेटी के सदस्य अश्विनी कुमार, जिला प्रधान डा. जगजीवन लाल, डेमोक्रेटिक पेंशनर फ्रंट के अमरजीत, संयुक्त किसान मोर्चा के तरलोक सिंह, मक्खन सिंह कोहाड़ आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran