मुंबई, राज्य ब्यूरो। Maharashtra Politics: महाराष्ट्र में शिवसेना का उद्धव ठाकरे गुट इन दिनों लगातार मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) पर दिल्ली (यानी केंद्र सरकार व भाजपा नेतृत्व) के सामने घुटने टेकने का आरोप लगा रहा है। जबकि शिंदे ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा ने कभी शिवसेना (Shiv Sena) को ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद देने का वायदा नहीं किया था।

शिंदे की तस्वीर पर साधा निशाना

शिवसेना का उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) गुट इन दिनों अपने पार्टी मुखपत्र सामना के माध्यम से लगातार मुख्यमंत्री शिंदे को घेरने की कोशिश कर रहा है। सामना ने हाल ही में नीति आयोग की बैठक के बाद प्रधानमंत्री के साथ खींची गई मुख्यमंत्रियों की तस्वीर में एकनाथ शिंदे की स्थिति पर निशाना साधा है। इस तस्वीर में शिंदे पीछे की पंक्ति में खड़े हैं। इस तस्वीर पर टिप्पणी करते हुए सामना में लिखा गया है कि दिल्लीश्वर ने महाराष्ट्र का अपमान किया। सामना में इतिहास का उल्लेख करते हुए लिखा गया है कि जब एक बार औरंगजेब ने छत्रपति शिवाजी महाराज को पांच हजार घोड़ों की मनसबदारी देते हुए अपने सैन्य कमांडरों की पंक्ति में खड़ा किया, तो छत्रपति शिवाजी आत्मसम्मान के लिए औरंगजेब का दरबार छोड़कर चले आए थे, लेकिन मुख्यमंत्री ने इस इतिहास को दफन कर दिया है।

शिवसेना उद्धव गुट का महाराष्ट्र की जनता को संदेश

शिवसेना का उद्धव गुट सामना के माध्यम से महाराष्ट्र की जनता को यह संदेश देना चाहता है कि बाला साहब ठाकरे ने कभी दिल्ली के चक्कर नहीं काटे। बल्कि उस दौर में भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी व लालकृष्ण आडवाणी ही ठाकरे बांद्रा स्थित निवास मातोश्री पर आते रहे थे, लेकिन एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनने के बाद से दिल्ली के आठ चक्कर लगा चुके हैं।

शिंदे बोले, भाजपा ने कभी भी शिवसेना को ढाई साल के लिए सीएम पद देने को नहीं कहा था

दूसरी ओर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने इन आरोपों पर कहा कि मुख्य शिवसेना से बगावत के बाद लोगों से मिल रहा प्यार और सम्मान ही इस आलोचना का जवाब है। ठाणे में एक कार्यक्रम के बाद शिंदे ने यह भी बताया कि उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ हाल की दिल्ली यात्रा में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के दौरान जब उन्होंने पूछा कि क्या आपने 2019 में शिवसेना से ढाई साल के मुख्यमंत्री पद का वादा किया था, तो शाह ने जवाब दिया कि जब हम बिहार में कम सीटें होने के बावजूद नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बना सकते थे। आपको कम सीटें होने के बावजूद मुख्यमंत्री बना सकते थे, तो यदि शिवसेना से वादा किया होता तो पीछे हटने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

शिंदे ने देवेंद्र फडणवीस की तारीफ की

शिंदे ने उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की तारीफ करते हुए कहा कि हम उनकी कार्यशैली की तारीफ करते हैं। उनमें चीजों के समझने की, निर्णय लेने की गजब की क्षमता है। यदि इसमें हमें फडणवीस का मार्गदर्शन व उनके मुख्यमंत्री रहने का लाभ मिलता है तो हम लेंगे।

Edited By: Sachin Kumar Mishra