प्रबंधन कमेटी की बैठक में केंद्रीय मंत्री से मिले सौरभ बहुगुणा

जागरण संवाददाता, सितारगंज : नई दिल्ली में केंद्रीय मंत्री, पशुपालन डेयरी एवं मत्स्य पालन पुरुषोतम रूपाला की अध्यक्षता में एनएफडीडी प्रबंधन कमेटी की वार्षिक बैठक आयोजित की गई। इसमें राज्य के पशुपालन, दुग्ध विकास, मत्स्य पालन मंत्री सौरभ बहुगुणा भी पहुंचे।

केंद्रीय मंत्री के समक्ष प्रदेश में फैल रहे लम्पी स्किन डिजीज पर नियंत्रण पाने के लिए केंद्र से आवश्यक सहयोग के साथ राज्य के पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों के संबंध में भी विचार विमर्श किया गया। कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने मात्स्यिकी क्षेत्र के समग्र विकास के लिए संचालित प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लिए केंद्र सरकार का आभार जताया। बैठक में उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य में मात्स्यिकी विकास, बैकवर्ड एवं फारवर्ड लिंकेज सहित पांच वर्षीय योजना तैयार की गयी है। इससे भारत सरकार एवं एनएफडीडी से मात्स्यिकी क्षेत्र में निर्मित अवसंरचनाओं एवं फसल बीमा, पर्वतीय क्षेत्रों में निर्बल वर्ग के सहायता के लिए रनिंग वाटर तालाब निर्माण, ग्राम समाज के तालाबों का सुधार जैसी गतिविधियों को प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में सम्मिलित कर अधिक से अधिक धनराशि स्वीकृत करने का अनुरोध किया गया। उन्होंने उत्तराखंड की भौगोलिक परिस्थितियों के दृष्टिगत अनुदान धनराशि को भी बढ़ाने का अनुरोध किया। राज्य में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए शीतजल मात्स्यिकी अनुसंधान निदेशालय के माध्यम से एंग्लिंग पर्यटन के विकास के लिए अभिनव तकनीकियों को सम्मिलित करते हुए एक विशिष्ट राज्य स्तरीय एंग्लिंग पोर्टल तैयार करने का अनुरोध किया गया। केंद्रीय मंत्री ने भारत सरकार स्तर से उत्तराखंड राज्य को आवश्यक सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया। बैठक में भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारी, उत्तराखंड के सचिव पशुपालन, मत्स्य डा. बीवीआरसी पुरुषोत्तम भी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran