जागरण संवाददाता, नोएडा: जिले में बढ़ रहे कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिग दोगुनी करने का फैसला किया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सार्वजनिक स्थानों के साथ ही रैंडम सैंपलिग पर विचार किया जा रहा है। जांच के लिए अतिरिक्त टीमें लगाई जाएंगी।

अभी जिले में कोरोना की 2500 के आसपास जांच हो रही है। जांच के दौरान प्रतिदिन नए मरीजों की संख्या 100 पार दर्ज की जा रही है। दैनिक संक्रमण दर दस प्रतिशत को पार कर रही है। इसे देखते हुए विभाग की ओर से सैंपलिग दोगुनी करने पर फैसला किया गया है। दैनिक जांच को बढ़ाकर पांच हजार किया जाएगा, जिससे सामुदायिक संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके। जिले में अभी ईएसआइसी अस्पताल, जिला अस्पताल, चाइल्ड पीजीआइ, जिम्स में जांच हो रही है। भंगेल, जेवर, बिसरख, दादरी, दनकौर सीएचसी पर कोविड की जांच कराई जा रही है। सीएमओ डा. सुनील कुमार शर्मा का कहना है कि दैनिक जांच को बढ़ाया जाएगा।

-------

कोविड के 138 संक्रमित मिले:

औद्योगिक नगरी में कोविड संक्रमण का कहर फिर से लोगों को संक्रमित कर रहा है। बीते 24 घंटे में जिले में 138 नए संक्रमित मरीज मिले हैं। 216 मरीज कोरोना से स्वस्थ हुए हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 1049 हो गई है। 28 मरीज अस्पताल में उपचाराधीन हैं। 1021 सक्रिय मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इनमें संक्रमण के कम लक्षण होने के चलते स्वास्थ्य विभाग ने इन्हें घर पर ही आइसोलेट रहने की हिदायत दी है। नए संक्रमित मरीजों की पहचान के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग का सघन जांच अभियान लगातार जारी है। 2500 नमूने लिए गए। 500 नमूनों की जांच रैपिड एंटीजन टेस्ट से की गई। 2000 नमूने आरटी-पीसीआर जांच के लिए एकत्रित किए गए। जिला डिप्टी सर्विलांस अधिकारी डा. मनोज कुशवाहा का कहना है कि संक्रमण के फैलाव में उतार-चढ़ाव जारी है। संदिग्धों की जांच की जा रही है। जांच के दौरान बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान की जाती है। अस्पताल में गंभीर मरीजों को जांच के लिए भर्ती किया जाता है।

Edited By: Jagran