संसू सोनवर्षा राज (सहरसा)। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत हर घर तिरंगा अभियान की तैयारियों के बीच राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तंभ के झाड़ी व कचरे में पड़े होने की दैनिक जागरण में 12 अगस्त के अंक में प्रकाशित खबर का राजनीतिक व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने संज्ञान लिया। राजनीतिक व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शाहपुर मवि का दौरा कर वहां अशोक स्तंभ का जायजा लिया और इसके पुनस्र्थापन का संकल्प लिया।

मौके पर समाजसेवी राघव सिंह ने ढाई डिसमिल जमीन दान देने की घोषणा की। वहीं, उप प्रमुख प्रतिनिधि चंदन यादव ने सरकारी योजना चलाकर पनस्र्थापन की बात कही। शाहपुर मध्य विद्यालय में झाड़ियों में पड़ा है राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तम्भ शीर्षक से प्रकाशित खबर ने स्थानीय सामाजिक व राजनीतिक कार्यकर्ताओं को झकझोर दिया। शनिवार को स्वंयसेवी संस्था चेंज फार श्योर के संस्थापक मनीष कुमार, उप प्रमुख प्रतिनिधि चंदन यादव, पैक्स अध्यक्ष शशिकांत यादव समेत जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने मामले में संज्ञान लिया। शाहपुर पंचायत स्थित आदर्श मध्य विद्यालय शाहपुर के विद्यालय के पूर्वी चाहरदीवारी के बाहर उपेक्षित पड़े अशोक स्तम्भ स्थल का जायजा लेकर विद्यालय प्रबंधन से बातचीत की। इस दौरान विद्यालय प्रबंधन द्वारा उक्त स्थल पर अशोक स्तंभ स्थापित करने हेतु करीब ढाई डिसमल जमीन दान स्वरूप राघव प्रसाद सिंह द्वारा दिए जाने की जानकारी दी गयी। इस दौरान मौके पर मौजूद उप प्रमुख प्रतिनिधि चंदन यादव ने सरकारी योजना के तहत स्तंभ स्थल का निर्माण करा अशोक स्तंभ स्थापित कराये जाने का विचार व्यक्त किया। जिसके बाद मौजूद लोगों ने अतिशीघ्र स्थल की साफ-सफाई करा अशोक स्तंभ स्थापित करने का निर्णय लिया।

मालूम हो कि शाहपुर बाजार निवासी स्वर्गीय हितलाल ब्रह्म भट्ट द्वारा करीब 50 वर्ष पूर्व मध्य विद्यालय के स्थापना वर्ष में इसे स्थापित किया गया था। विद्यालय के सरकारीकरण होने के बाद विद्यालय के चिन्हित भूमि में चाहरदीवारी निर्माण के क्रम में अशोक स्तंभ को विद्यालय से बाहर रह गया। चाहरदीवारी निर्माण बाद इसे पुन: विद्यालय में स्थापित नहीं किया जा सका। मौके पर विद्यालय प्रधानाध्यापक इंद्रदेव साह, रुतन यादव, अश्विनी झा, विष्णुदेव यादव, भवेश यादव, तपेश चौधरी, संजीव कुमार उर्फ रूपी सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।

Edited By: Jagran