पहाड़ दरकने से क्षेत्र में छह स्टेट हाईवे समेत 18 मोटर मार्ग बंद

जागरण संवाददाता, विकासनगर : जनजातीय क्षेत्र जौनसार बावर में पहाड़ दरकने का सिलसिला थम नहीं रहा है। मंगलवार को मलबे के कारण छह स्टेट हाईवे समेत 18 मोटर मार्ग बंद रहे, जिन्हें खोलने के लिए जेसीबी लगाई गई। विभाग के अधिकारी मार्ग को पूरा न खोलकर ट्रैफिक गुजरने लायक ही बना रहे हैं। पूरी तरह से मलबा न हटाने की वजह से मार्ग पर फिर से आवागमन बाधित हो रहा है। मार्ग बंद होने की वजह से पर्यटक, नौकरीपेशा, किसान व बागवान सब परेशान हैं।

जौनसार बावर में पहाड़ दरकने पर लोनिवि चकराता के छह, लोनिवि साहिया के सात व पीएमजीएसवाई कालसी के पांच मोटर मार्ग बंद हैं। जिसमें छह राज्य मार्ग भी शामिल हैं। लोनिवि चकराता के अंतर्गत राज्य मार्ग दारागाड कथियान, राज्य मार्ग चकराता लाखामंडल, गौराघाटी मानथात, बिरमौ, राज्य मार्ग त्यूणी पुरोला नौगांव, लोनिवि साहिया अंतर्गत राजय मार्ग कालसी चकराता, राज्य मार्ग साहिया क्वानू, निछिया बैंड पिहानी, हमरऊ ललऊ दातनू, शंभू की चौकी पंजिया, डयूडीलानी ठलीन, राज्य मार्ग मीनस अटाल मोटर मार्ग बंद पड़े हैं। पीएमजीएसवाई कालसी अंतर्गत बानपुर, बनियाना, मेघाटू, लाखामंडल खबौ, हनोल चातरा मोटर मार्ग बंद पड़े हैं। उधर, लोनिवि साहिया के अधिशासी अभियंता प्रत्युष कुमार, लोनिवि चकराता के अधिशासी अभियंता एमएस बेलवाल व पीएमजीएसवाई कालसी के अधिशासी अभियंता आरके टम्टा के अनुसार जेसीबी के माध्यम से सड़कों से मलबा हटाकर यातायात सुचारू करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

नदियों का जलस्तर

विकासनगर : टौंस नदी के प्रवाह की वजह से इच्छाड़ी बांध में जलस्तर 643.10 मीटर है। जबकि खतरे का स्तर 644.75 मीटर पर है। यमुना नदी के प्रवाह के कारण डाकपत्थर बैराज में 455.37 मीटर पर है। जबकि यहां पर खतरे का स्तर 455.37 मीटर पर है।

बंद रास्तों ने बढ़ाई पर्यटकों की परेशानियां

चकराता : जौनसार बावर में कई मुख्य रास्ते अवरुद्ध होने से पर्यटकों को दिक्कत झेलनी पड़ी। चकराता, लोखंडी, नागथात, बैराटखाई, बुधेर, मोइला टाप आदि पर्यटन स्थलों से वापस लौटते समय पर्यटकों के वाहन यहां तहां फंसे रहे। कई घंटे तक मार्ग खुलने का इंतजार करना पड़ा।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट