मार्ग बंद होने से किसानों और बागवानों की बिगड़ी आर्थिकी

जागरण संवाददाता, विकासनगर : जौनसार बावर में जगह-जगह पहाड़ दरकने का क्रम जारी है। बड़ी मात्रा में मलबा गिरने से छह स्टेट हाईवे समेत 24 मार्ग बंद हैं, जिससे सौ से अधिक गांवों, खेड़ों व मजरों में जनजीवन प्रभावित हो गया। वाहनों में लदी हुई सेब, टमाटर, गोभी, हरा धनिया, हरी मिर्च, बीन्स, मूली, नींबू आदि नकदी उपज बंद मार्गों पर ही फंसी है। जिससे किसानों व बागवानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा।

दो दिन से जौनसार बावर में वर्षा भी नहीं हुई, लेकिन जैसे ही चटख धूप खिली, पहाड़ों का चटकना शुरू हो गया। जगह-जगह भूस्खलन से वाहनों के पहिए जाम हो गए। छह स्टेट हाईवे बंद होने की वजह से सैकड़ों वाहन जहां तहां फंसे हुए हैं। वर्तमान में लोनिवि साहिया के 12, लोनिवि चकराता के 9, पीएमजीएसवाई कालसी के 3 कुल 24 मोटर मार्ग बंद होने की वजह से किसानों व बागवानों की आर्थिकी बुरी तरह से प्रभावित हुई है। पहाड़ दरकने पर लोनिवि चकराता के अंतर्गत राज्य मार्ग त्यूणी पुरोला नौगांव मोटर मार्ग, रावना पुरोड़ी, राज्य मार्ग चकराता लाखामंडल, राज्य मार्ग गौराघाटी मानथात, कोटी कनासर रजाणू, माख्टी पोखरी ककनोई, बहमू, मरलऊ बडोडा, क्यारापुल साहिया मोटर मार्ग पर जगह जगह मलबा आने पर यातायात ठप रहा। लोनिवि साहिया के तहत पजिटीलानी सैंज, साहिया पजिटीलानी, राज्य मार्ग कोटी इच्छाड़ी क्वानू मीनस, शंभू चौकी पंजिया, बांसू जखनोग बिसोई, लालपुल निथिला बिसोई, डयूडीलानी ठलीन सकरोल, शहीद सुरेश तोमर गास्की, राज्य मार्ग मीनस अटाल, खड्ड, कालसी चकराता मोटर मार्ग पर जगह-जगह मलबा आने की वजह से यातायात ठप है। पीएमजीएसवाई कालसी के मेघाटू, डिरनाड, पुरटाड़ मोटर मार्ग बंद पड़े हैं। किसानों व बागवानों का संपर्क मंडियों व शहरों से कट गया है। उधर, लोनिवि साहिया के अधिशासी अभियंता प्रत्युष कुमार, लोनिवि चकराता के अधिशासी अभियंता एमएस बेलवाल व पीएमजीएसवाई कालसी के अधिशासी अभियंता आरके टम्टा के अनुसार सीमित संख्या में जेसीबी होने के कारण रास्तों से मलबा हटाने में विलंब हो रहा है। फिर भी विभाग जल्द रास्ते खोलने के प्रयास में जुटा है।

Edited By: Jagran