जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : क्षेत्र के गंभीर मरीजों को समय रहते रियायती दरों में बेहतर इलाज की सुविधा देने को राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) में सुपर स्पेशियलिटी सुविधा दी जा रही है। अस्पताल में यूरोलाजी, कार्डियोलाजी, गेस्ट्रो एंटरोलाजी और न्यूरोलाजी के मरीजों को सोमवार से शुक्रवार तक दो घंटे परामर्श और ओपीडी में भर्ती होने की सुविधा दी जा रही है। अब तक तीन हजार से अधिक मरीजों को इलाज की सुविधा मिल चुकी है। अस्पताल प्रशासन द्वारा छह विशेषज्ञ चिकित्सकों के साथ अनुबंध कर सुविधा शुरू की गई है। अब मरीजों को निजी अस्पतालों में परामर्श लेने के लिए परेशानी नहीं उठानी पड़ती है। सिर्फ 100 रुपये में सुपर स्पेशियलिटी की सुविधा : जिम्स को पूरी तरह से सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाने के लिए शुरुआती कोशिशें शुरू हैं। अस्पताल प्रशासन के अनुसार, इस सुविधा के शुरू होने से क्षेत्र के गंभीर मरीजों को सिर्फ 100 रुपये के पर्चे पर इलाज और परामर्श मिल रहा है। जिम्स के प्रशासनिक अधिकारी डा.अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि अब मरीज को विशेषज्ञ से परामर्श दिलवाने के लिए निजी व बड़े सरकारी अस्पतालों में रेफर नहीं किया जाता है। उन्हें यह सुविधा यहीं मिल रही है। न्यूरोलाजी के मरीज की सीटी स्कैन व एमआरआइ हो जाती है। विशेषज्ञ उनकी रिपोर्ट जांच कर यहीं इलाज की सुविधा दे रहे हैं। कार्डियोलाजी के मरीज के स्टेंट डालने की सुविधा अभी शुरू नहीं है, लेकिन अत्याधुनिक मशीन से ईसीजी व इको किया जा रहा है। इसी तरह गेस्ट्रो एंट्रोलाजी में लीवर की गंभीर समस्या वाले मरीज को काफी हद तक इलाज विशेषज्ञ दे रहे हैं। यहां चिकित्सक इससे पहले विशेषज्ञ का परामर्श लाने के लिए कहते थे, जिसके बाद ही इलाज संभव होता था। इससे मरीजों को जल्द इलाज मिलने के साथ ही पैसा भी कम खर्च करना पड़ता है। वर्जन..

सुपर स्पेशियलिटी में अब तक तीन हजार से अधिक मरीजों को इलाज और परामर्श की सुविधा मिल चुकी है। अन्य बीमारियों के भी विशेषज्ञ उपलब्ध कराने की तैयारी चल रही है। अस्पताल की नई इमारत बनने के बाद पूरी तरह से सुपर स्पेशियलिटी करने की तैयारी है।

-ब्रिगेडियर डा.राकेश कुमार गुप्ता, निदेशक, जिम्स।

Edited By: Jagran