जमशेदपुर, जागरण संवाददाता: आनलाइन गेमिंग का नशा आद्रा निवासी एक रेलकर्मी को ऐसा लगा कि उसे 15 लाख रूपए से भी अधिक का कर्जदार बना दिया। जब उसे लगा कि वह 15 लाख का भारी-भरकम कर्ज चुकाने में सक्षम नहीं है तो उसने पूरे परिवार सहित खुद को मारने का कदम उठा लिया। सबसे पहले उसने अपनी बीबी को नींद की गोली देकर मारने की कोशिश की, जिसमें वह नाकाम रहा। बीबी को नींद की गोली देने के बाद उसने अपनी पांच वर्षीय बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी और खुद भी फंदे से लटक कर आत्महत्या कर ली। 

पुलिस के अनुसार, मृतक अमर चंद्र मोदक आद्रा डिवीजन के रेल कालोनी के रहने वाले हैं। आत्महत्या करने से पूर्व रेल कर्मी ने अपनी पत्नी जवा मोदक को नींद की गोली खिलाकर मारने का प्रयास किया था। उन्हें आद्रा डिविजनल रेलवे हास्पिटल में भर्ती कराया गया है।

हास्पिटल में इलाजरत जवा मोदक ने बताया कि गोली खाने के बाद उन्हें गहरी नींद आ गई। अचानक उल्टी हुई तो नींद खुली। इस दौरान उसने देखा कि घर की फर्श पर उनकी बेटी अंकिता का शव और बगल के ही कमरे में पति का शव लटकता हुआ दिखाई दिया। आसपास के लोगों ने पुलिस को इस घटना की जानकारी दी।पुलिस ने दोनों शव को पोस्टमार्टम के लिए देवेन महतो मेडिकल कालेज हास्पिटल भेज दिया।

मृतक रेल कर्मी की पत्नी ने पुलिस को बताया कि उसके पति कुछ माह से मोबाइल पर आनलाइन गेम खेल रहे थे। शुरुआती दौर में उन्हें कई बार कुछ लाख रुपये मिले। इसके बाद यह खेल उनके लिए नशा बन गया। उन्होंने उधार करके आनलाइन गेम खेलना शुरू कर दिया। मार्केट में उन पर लगभग 15 लाख रुपये का ऋण हो चुका था। एसपी अभिजीत बनर्जी ने बताया कि पुलिस इस घटना की जांच कर रही है।

यह भी पढें- Giridih Mob Lynching: काम समेटकर घर लौट रहे बेगुनाह की पीट-पीटकर हत्‍या करने के मामले में दो लोगों को उम्रकैद

Edited By: Mohit Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट