फाइनेंसकर्मी से लूट में दो आरोपित गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, गिरिडीह : भेलवाघाटी थाना की पुलिस ने फाइनेंस कर्मी से लूटपाट में शामिल तीन अपराधियों में से दो को तिसरी थाना क्षेत्र के भीत्ती गांव से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों में गावां थाना क्षेत्र के कुर्ची गांव नवासी चंद्रशेखर सिंह और तिसरी थाना क्षेत्र के भीत्ती गांव निवासी संतोष कुमार यादव शामिल हैं। इस मामले में संलिप्त रहनेवाला एक आरोपित फरार फरार है। पुलिस की टीम ने फाइनेंस कर्मी से लूटी गई नकद राशि में से कुछ रुपये समेत अन्य सामानों को बरामद किया है। यह जानकारी पपरवाटांड़ स्थित एसपी कार्यालय के सभाकक्ष में सदर एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह ने दी।

बताया कि 16 अगस्त की रात को आरबीएल फिनसर्व लिमिटेड कंपनी के कर्मी 22 वर्षीय शौकत अली के साथ हथियार का भय दिखाकर तीन अपराधकर्मियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था। इसे लेकर पीड़ित ने 17 अगस्त को प्राथमिकी दर्ज कराई। पीड़ित कर्मी देवघर जिले के देवीपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत प्राणडीह का रहनेवाला है और फिलहाल देवरी थाना क्षेत्र के एसएसबी कैंप के सामने चरण राणा के मकान में किराये पर रहता है। वह महिलाओं से ऋण की राशि की किश्त की वसूल कर देवरी लौट रहा था। इसी क्रम में बिहार-झारखंड की सीमा से सटे अधपेलिया के पास तीन अपराधियों ने लूटपाट की थी। इसमें 16 हजार नकद, एक टैब, एक फिंगर प्रिंट मशीन, मोबाइल व टीवीएस की स्टार बाइक शामिल हैं। प्राथमिकी दर्ज करने के बाद एसपी की ओर से गठित टीम में शामिल पदाधिकारियों व जवानों ने तिसरी के भीत्ती गांव से दो को गिरफ्तार करते हुए सामानों की बरामदगी की। प्रेसवार्ता में भेलवाघाटी के थानेदार प्रशांत कुमार व सअनि बुद्धिनाथ मार्डी शामिल थे। दोनों आरोपितों को प्रेसवार्ता के बाद चिकित्सीय जांच कराकर न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष पेश किया गया जहां से न्यायालय के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया।

- आरोपितों के पास से बरामद सामान : लूटपाट मामले में गिरफ्तार आरोपितों के पास से पुलिस कई सामान भी बरामद करने में सफल रही है। इसमें लूटी गई सैमसंग कंपनी की टैब, मंत्रा कंपनी की फिंगर प्रिंट मशीन, लूटी गई टीवीएस स्पोर्ट बाइक, दो हजार रुपये नकद व अपराध करने में उपयोग में की गई ग्रे कलर की अपाची बाइक शामिल है।

- चंद्रशेखर पूर्व में भी जा चुका है जेल : लूटपाट की घटना के अंजाम देने में शामिल रहा चंद्रशेखर सिंह पूर्व में भी दो मामलों में जेल जा चुका है। उसके खिलाफ चोरी व लूटपाट के दो अलग-अलग मामले वर्ष 2020 में देवरी थाना व राजधनवार के घोड़थंबा ओपी में दर्ज किए गए थे। इन दोनों मामलों में वह जेल जा चुका है और जेल से बाहर आने के बाद पुन: लूट की घटना में संलिप्त हो गया था।

- छापेमारी टीम में ये थे शामिल : लूटपाट के मामले का खुलासा करने को लेकर एसपी ने खोरीमहुआ एसडीपीओ मुकेश कुमार महतो के नेतृत्व में एक टीम गठित की। इस टीम में गावां के इंस्पेक्टर सहदेव महतो, भेलवाघाटी थानेदार प्रशांत कुमार, गावां थानेदार पिंटू कुमार, सअनि बुद्धिनाथ मार्डी व सुरेंद्र कुमार सिंह, मसलन टोपनो, मलय बाउरी, कृति, पूरनचंद सिंह व विद्यानंद कुमार शामिल थे।

Edited By: Jagran