मुंबई, ब्यूरो। Maharashtra Ministers Portfolio: महाराष्ट्र के एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) मंत्रिमंडल में रविवार को विभागों का बंटवारा हो गया है। मुख्यमंत्री शिंदे ने लोक निर्माण, सामान्य प्रशासन और नगर विकास जैसे विभाग अपने पास रखे हैं। गृह, वित्त, योजना, ऊर्जा, आवास व जल संसाधन जैसे विभाग उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के हिस्से में गए हैं। मुख्यमंत्री शिंदे ने पद व गोपनीयता की शपथ लेने के 40 दिन बाद नौ अगस्त को अपने मंत्रिमंडल का पहला विस्तार करते हुए 18 कैबिनेट मंत्री शामिल किए थे। इनमें नौ भाजपा कोटे से व नौ शिवसेना शिंदे गुट के थे।

मंत्रिमंडल विस्तार के पांचवें दिन हुआ विभागों का बंटवारा

अब मंत्रिमंडल विस्तार के पांचवें दिन मुख्यमंत्री ने विभागों का बंटवारा भी कर दिया। विभागों के बंटवारे में उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का वर्चस्व साफ नजर आ रहा है। गृह मंत्रालय सहित कई महत्वपूर्ण विभाग उनके पास ही हैं। फडणवीस को मिले विभाग उनके मुख्यमंत्री रहते हुए भी उनके पास थे। हालांकि मुख्यमंत्री शिंदे ने अपने पास नगर विकास व लोक निर्माण जैसे मंत्रालय रखे हैं। भाजपा कोटे के राधाकृष्ण विखे पाटिल को राजस्व, पशुपालन और डेयरी विकास तथा सुधीर मुनगंटीवार को वन, सांस्कृतिक गतिविधियां व मत्स्य पालन की विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। चंद्रकांत पाटिल को उच्च व तकनीकी शिक्षा, कपड़ा उद्योग व संसदीय कार्य मंत्रालय दिया गया है। आदिवासी समाज के प्रतिनिधि डा. विजय कुमार गावित को आदिवासी विकास मंत्रालय व अतुल सावे को सहकारिता व अन्य पिछड़ा वर्ग मंत्रालय सौंपा गया है।

जानें, किसे-क्या जिम्मेदारी मिली

मंगल प्रभात लोढ़ा को पर्यटन, कौशल विकास और उद्यमिता तथा महिला व बाल विकास की जिम्मेदारी दी गई है। अब तक शिंदे गुट के प्रवक्ता की भूमिका में नजर आते रहे दीपक केसरकर को स्कूली शिक्षा व मराठी भाषा, अब्दुल सत्तार को कृषि, उदय सामंत को उद्योग, संदीपक भुमरे को रोजगार गारंटी योजना एवं बागवानी, रवींद्र चह्वाण को लोक निर्माण (सार्वजनिक उद्यमों को छोड़कर), खाद्य और नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता संरक्षण, गुलाबराव पाटिल को जल आपूर्ति एवं स्वच्छता मंत्रालय दिया गया है। दादा भुसे को बंदरगाह एवं खदान, संजय राठौर को खाद्य एवं औषधि प्रशासन तथा सुरेश खाड़े को श्रम मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। अभी शिंदे मंत्रिमंडल में 23 और मंत्री शामिल किए जाने शेष हैं। इनमें कैबिनेट व राज्य दोनों मंत्री शामिल किए जाएंगे।

Edited By: Sachin Kumar Mishra