जागरण संवाददाता, वाराणसी : मंडलीय अस्पताल की 150 वर्ष पुरानी बिल्डिंग तोड़कर नया सात मंजिला भवन बनाया जाएगा। अस्पताल का रंग रूप बदलेगा और चिकित्सा सुविधाएं भी बढ़ेंगी। अस्पताल प्रशासन ने नए सिरे से डीपीआर तैयार की है। इसमें 250 करोड़ के खर्च का आकलन किया गया है। साथ ही पुरानी बिल्डिंग ध्वस्त करने के लिए पुरातत्व विभाग से सहमति मांगी है।

अस्पताल का कायाकल्प हो जाने के बाद इसमें एमआरआई जांच के साथ ही कार्डियोलाजी, नेफ्रोलाजी, न्यूरोलाजी, गैस्ट्रोलाजी आदि की यूनिट स्थापित की जाएंगी। इनमें विशेषज्ञ चिकित्सक और शल्य चिकित्सकों की तैनाती की जाएगी। प्रस्ताव को लगभग अंतिम रूप दे दिया गया है। जल्द ही 725 बेड का अस्पताल मरीजों के लिए तैयार दिखाई देगा। खास यह कि इसमें 250 बेड का सिर्फ आइसीयू होगा।

नई आधुनिक ओपीडी का भी निर्माण होगा। अस्पताल पूरी तरह हाईटेक हो जाएगा। ड्राइंग डिजाइन बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से आर्किटेक्ट की टीम लगाई गई है, जो सीपीडब्ल्यूडी की सलाह पर प्रथम चरण का खाका खींच रही है। मंडलीय जिला अस्पताल में रोजाना 1300 से अधिक मरीज आते है। मल्टी सुपर स्पेयशलिटी हास्पिटल बनने से मरीजों को लाभ मिलने लगेगा।

आनलाइन बनवा सकेंगे पर्चे

मरीज को दिखान के लिए बार-बार पर्चे बनवाने पड़ते थे। लेकिन अब नयी व्यवस्था के तहत आनलाइन पर्चा एक बार बनाकर बार-बार के झंझट से छुटकारा पा सकते है।

नयी बिल्डिंग में यह होंगे शिफ्ट

नयी बिल्डिंग में सीटी स्कैन, आयुष्मान भारत, पैथोलाजी, डायलिसिस, डिजिटल एक्सरे, एक्सरे, ब्लड बैंक, दवा काउंटर को शिफ्ट कर दिया जाएगा। एक ही बिल्डिंग के नीचे सभी प्रकार की सुविधा होने से मरीजों और तीमारदारों को काफी सहूलियत महसूस होगी।

अस्पताल पूरी तरह से हाइटेक नजर आएगा

मंडलीय अस्पताल में लगभग 250 करोड़ रुपये से सात मंजिला इमरात तैयार किया जाना है। जिसमें 725 बेड मौजूद रहेंगे। अस्पताल पूरी तरह से हाइटेक नजर आएगा।

- डा. हरिचरन सिंह, प्रमुख अधीक्षक मंडलीय जिला अस्पताल

Edited By: Saurabh Chakravarty