जागरण संवाददाता,चंदौली : मालगाड़ियों की रफ्तार बढ़ाने के साथ ही ईस्टर्न डेडिक्रेटेड फ्रेट कारीडोर (इडीएफसी) रेल लाइन का दायरा भी बढ़ा रहा है। अप और डाउन लाइन में डीएफसीसीआईएल के नवनिर्मित डबल लाइन विद्युतीकृत एसइबीएन-एसईबीएल सेक्शन पर इलेक्ट्रिक लोको इंजन ट्रायल किया गया। ईडीएफसी लाइन से गढ़वा लाइन में बाघा विष्णुपुर स्टेशन के पास ईसीआर लाइन से जुड़ी है।

अब गढ़वा लाइन का माल यातायात न्यू सोननगर लिंक स्टेशन पर ईडीएफसी लाइन पर प्रवेश कर सकता है। अभी तक डीएफसीअसीआइएल के न्यू चिरैलापौथु स्टेशन तक ही व्यापारियों का माल पहुंच पाता था। सोननगर में अधिकारियों ने पूजा कर गढ़वा तक ट्रायल किया। इस दौरान ट्रैक पर आने वाली खामियों की जांच की गई। साथ ही भविष्य की कार्य योजना तैयार की गई।

डीएफसीसी का सोननगर जंक्शन (एसइबीएन) ईसीआर स्टेशन बाघा विष्णुपुर से बीडी लाइन की ओर जुड़ा हुआ है। (डाल्टनगंज साइड) अब बीडी लाइन का माल यातायात न्यू सोननगर जंक्शन स्टेशन पर लिया सकेगा। मालगाड़ियों के परिचालन में किसी तरह की रूकावट न हो, इसके लिए डीएफसीसी एक अलग रेल लाइन तैयार कर रही है।

यहां तक कि मालगाड़ियों के ठहराव के लिए मंडल में आधा दर्जन न्यू स्टेशन का निर्माण भी कराया जा रहा है। अभी तक न्यू गंजख्वाजा से न्यू चिरैलापौथु तक ईडीएफसीसी का ट्रैक तैयार हुआ था। इसी वजह से व्यापारियों का माल वहीं तक पहुंचता था, लेकिन अब सोननगर तक रेल लाइन बिछा दी गई है, विद्युतीकरण हो गया और सिग्नल व्यवस्था भी सही है।

ट्रायल के दौरान ईडी इंफ्रा दिल्ली जीडी भगवानी, उप मुख्य परियोजना प्रबंधक सिविल संताष कुमार झा, महाप्रबंधक विद्युत अशोक वर्मा, संचालन राजेश प्रसाद,, डिप्टी पीएम सिविल राजेश कुमार, सुमित कुमार, अतुल कुमार, प्रदीप कुमार आदि उपस्थित रहे।

ईडीएफसी ट्रैक से चुनार से प्रयागराज तक चलेगी कोयले की रैक

ईस्टर्न डेडिक्रेटेड फ्रेट कारीडोर ने सबसे पहले पीडीडीयू जंक्शन के गंजख्वाजा से चिरैलापौथु तक रेल ट्रैक बनवाया और मालगाड़ियों की आवाजाही शुरू हुई। इसके बाद सोननगर से गढ़वा को जोड़ा। पश्चिम बंगाल से जुड़ने के साथ ही ईडीएफसी प्रयागराज छिवकी तक भी जुड़ गया है। भारतीय रेल के प्रयागराज छिवकी और चुनार यार्ड के बीच 117.5 किलोमीटर तक काम हो चुका है।

शनिवार को मालगाड़ी का परीक्षण पूरा किया गया। इससे ईडीएफसी पर फ्रेट ट्रेनों के डायवर्जन से पूर्व मध्य रेलवे और उत्तर मध्य रेलवे के बीच मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों की गति बढ़ जाएगी और नेटवर्क पर भीड़भाड़ कम हो जाएगी। नार्दन कोल फील्ड्स से कोल रैक की आवाजाही चोपन-चुनार सेक्शन से सीधे इस नवनिर्मित ईडीएफसी ट्रैक से प्रयागराज छिवकी तक होगी।

मीरजापुर के चुनार से प्रयागराज छिवकी तक ट्रायल किया गया

मीरजापुर के चुनार से प्रयागराज छिवकी तक ट्रायल किया गया है। उम्मीद है कि जल्द ही मालगाड़ियों का परिचालन शुरू करा दिया जाएगा जिससे माल ढुलाई में सहूलियत होगी।

ओमप्रकाश, मुख्य महाप्रबंधक, प्रयागराज, डीएफसीसीआईएल

Edited By: Saurabh Chakravarty

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट