सड़क दुर्घटना के शिकार माता पिता

गुजरात के सूरत में डिंडोली इलाके में पिछले दिनों खतरनाक सड़क दुर्घटना में तीन लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में एक दंपत्‍ति और उनकी बेटी शामिल थे। इस दुर्घटना की सबसे खास बात ये थी कि अपनी मौत सामने देख कर भी मां ने होश नहीं गवाये और अपने छह माह के नवजात बेटे को हवा में उछाल कर उसकी जान बचा ली। सब कुछ किसी कहानी जैसा लगता हैपर सच है । 

जीप चालक की गलती से हुआ हादसा

विभिन्‍न एजेंसिंयों की रिर्पोट के अनुसार मृतक दंपत्‍ति एक बाइक पर सवार थे और उस समय एक पुल पर से गुजर रहे थे। उनके साथ उनकी 6-7 साल की बेटी और लगभग 6 महीने का बेटा भी था। बेटे को महिला ने गोद में लिया हुआ था। उनकी गाड़ी के आगे एक और जोड़ा बाइक से जा रहा था। उसी समय गलत दिशा से एक पजेरो एसयूवी तेजी उनकी ओर आने लगी। पजेरो को देख कर आगे वाली बाइक के चालक ने गाड़ी एक किनारे कर के रोक दी। इससे उनकी जान तो बच गई लेकिन पीछे से आते वाहन पजेरो से बच नहीं सके। देखते ही देखते बेकाबू पजेरो और मरने वाले दंपत्‍ति की गाड़ी भी आपस में भिड़ गई और बगल की रेलिंग तोड़ते हुए वे नीचे गिरने लगे। हादसे में किसी के भी बचने की उम्‍मीद नहीं थी तभी महिला ने अपने गोद के बच्‍चे को हवा में उछाल दिया। 

दूसरे जोड़े ने पकड़ा बच्‍चे को

दरसल इस महिला ने सड़क के किनारे खड़े दूसरे जोड़े को देख लिया था और अपने होश हवास काबू में रखते हुए अपने बेटे को उनकी ओर ही उछाल दिया था। महिला के इस प्रयास को सामने वाली महिला ने समझ लिया और तुरंत ही बचचे को कैच कर लिया। इस तरह से बच्‍चा सुरक्षित रहा। जबकि करीब 30 फुट ऊंचे पुल से गिरने के बाद बच्‍चे की मां, उनके पति और साथ बैठी बेटी की मृत्‍यु हो गई। पता चला है कि टक्कर मारने वाली पजेरो का चालक नशे में था हालाकि हादसे के बाद उसके सभी सवार भाग खड़े हुए और उनकी तलाश जारी है। इस दुर्घटना में दो अन्‍य लोगों के घायल होने का भी समाचार है।

 

Posted By: Molly Seth