अमेरिका के वॉशिंगटन की रहने वाली एक महिला को अपने चेहरे पर ऑक्टोपस रखकर फोटो खिंचाना काफी महंगा पड़ गया। उसने उम्मीद नहीं कि थी कि वह जिस फोटो कान्टेस्ट के लिए फोटोशूट करा रही है, वह उसके लिए समस्याएं पैदा कर देगा और उसे दर्द के साथ अस्पताल जाना पड़ जाएगा।

45 वर्षीय जेमी बिसेग्लिया ने बताया कि वह पिछले शुक्रवार को टैकोमा नैरोज ब्रिज के पास फिशिंग डर्बी में शामिल हुई थी। वहां कुछ लोगों ने एक ऑक्टोपस पकड़ा था। जेमी ने उनसे वह ऑक्टोपस यह कहकर मांगा कि वह उसे डिनर में बनाएगी।

जेमी ने उनसे कहा कि वह इस ऑक्टोपस के साथ उसकी एक फोटो खींच दें, जिससे वह डर्बी के फोटोग्राफी प्रतियोगिता में शामिल होगी। जेमी ने बताया कि वह ऑक्टोपस काफी मुलायम था, उसे देखकर ऐसा नहीं लग रहा था कि वह नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में उसने ऑक्टोपस को अपने चेहरे पर रख लिया।

महिला ने बताया कि ऑक्टोपस उसके चेहरे पर मानो खेल रहा था। तभी अचानक उसने महिला की ठुड्डी पर हमला कर दिया, उस दौरान कुछ लोग उसकी फोटो ले रहे थे। जेमी ने बताया कि जब ऑक्टोपस उसके चेहरे पर काट रहा था तो ऐसा लग रहा था जैसे कि कुछ कटीली चीज चुभो दी गई हो। असहनीय दर्द से वह तड़प रही थी, चेहरे से खून बह रहा था।

इतना कुछ होने बाद भी जेमी दो दिनों तक अस्पताल नहीं गई क्योंकि उसे एक बाद एक डर्बी फिशिंग को पूरा करना था। हालांकि दूसरे डर्बी को पूरा करने के अगले दिन उसे लगा कि तत्काल उसे डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

ऑक्टोपस के हमले का प्रभाव उसके चेहरे पर दिख रहा था, चेहरा और गला सूज गया था। कोई भी चीज खाने में दिक्कत हो रही थी। उसे लगा कि उसके चेहरे के बाएं हिस्से में लकवा मार दिया है।

हालांकि डॉक्टरों ने उसे दवा दी है, जिससे उसे थोड़ी राहत मिली है। इस घटना से उसे एक नई सीख मिली है, अब वह लोगों से कह रही है कि आप जिसके बारे में कुछ नहीं जानते हैं, उसे न छूएं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: kartikey.tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप